एसिड अटैक पीड़िता को बनाया जीवन साथी

  • एसिड अटैक पीड़िता को बनाया जीवन साथी
You Are HereNational
Saturday, February 15, 2014-9:03 PM
नई दिल्ली : वेलेंटाइन डे पर जहां युवा प्रेम दिवस को सेलीब्रेट कर रहे थे, वहीं कुछ ऐसे भी युवा थे, जिन्हें एकतरफा प्यार किया या पार्टनर के धोखे से आहत हुए थे।   उन्होंने ब्लैक रोज कैंपेन चलाया ऐसे लोगों को चुना और उन्हें इस कैंपेन का हिस्सा बनाया। उन्हें समझाया कि प्रेम दो लोगों के बीच एक ऐसी आत्मिक भावना है, जोकि जबरदस्ती नहीं बनायी जा सकती।
 
यदि उनका पाटर्नर या प्रेमी उनकी दोस्ती ठुकरा देता है तो उससे बदला या चोट पहुंचाने की बजाय उसे आजाद छोड़ दें। अपने दिल की बात कागज पर लिखें और ब्लैक रोज के साथ उसे गिफ्ट करें, ताकि वो उन भावनाओं को समझ सकें।
 
इस कैंपेन में तजाब हमले को झेल चुकी लक्ष्मी को पहले वेलेंटाइन डे पर आलोक ने  का तोहफा दिया है, जिसमें उसकी जैसी लड़कियों को समाज में आगे बढऩे का मंच मिले। लक्ष्मी के मुताबिक, शुक्रवार को सुबह आलोक ने सीपी चलने को कहा। रास्ते में उसने बताया कि मैं तुम्हें ब्लैक रोज कैंपेन गिफ्ट दे रहा हूं।
 
 22 अप्रैल 2005 को पूर्वी दिल्ली इलाके में लक्ष्मी पर एक युवक ने तेजाब से हमला किया था। सातवीं कक्षा में पढऩे वाली लक्ष्मी की उम्र तब महज 15 वर्ष थी। युवक के एकतरफा प्रेम को अस्वीकार करने पर तेजाब फेंका था। तेजाबी हमले के चलते लक्ष्मी के चेहरे समेत गर्दन, हाथ व पेट का 45 फीसदी हिस्सा जल गया था। तेजाबी हमले के चलते लक्ष्मी के 9 सालों में 7 बड़े ऑपरेशन हो चुके हैं, लेकिन चेहरे समेत शरीर की अन्य बनावट पहले जैसी नहीं बन पाई है।
 
आलोक कहता है कि मैं स्टॉप एसिड अटैक कैंपेन के दौरान मई 2013 में लक्ष्मी से एक दोस्त के माध्यम से मिला था। लक्ष्मी की कहानी व हौसला देख मैं उससे बेहद प्रभावित था। मुलाकातों के दौरान लक्ष्मी की सादगी व सच्चाई ने मुझे पास ला दिया और मैंने अपने दिल की बात उससे कह दी। शुरुआत में दोस्त बनें, लेकिन पिछली 7 अगस्त को एक साथ जीवन बिताने का फैसला किया।
 
लक्ष्मी के मुताबिक, आलोक से मिलने के बाद मेरे जीवन में निगेटिव सोच खत्म हो गई और अब समाज का खुलकर सामना करने को तैयार हूं। जिस समाज ने तेजाबी हमले के चलते चेहरा खराब होने पर मुझे ठुकरा दिया था, इसमें मेरी कोई गलती नहीं थी।
 
अब उसी समाज की बंदिशों को तोड़ते हुए हम बिना शादी के लिव-इन में रहकर जिंदगी बिताना चाहते हैं। क्योंकि शादी किसी भी रिश्ते का आधार नहीं, बल्कि दिलों को जोडऩे की सोच व एक-दूसरे के प्रति इज्जत व सम्मान मुख्य होता है। आलोक के मुताबिक, लक्ष्मी मुझे दुनिया की सबसे खूबसूरत लड़की लगती है, जिसमें सच्चाई व हौसला है।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You