बिजली कंपनियों के खातों की जांच टली, सुनवाई 20 मार्च से

  • बिजली कंपनियों के खातों की जांच टली, सुनवाई 20 मार्च से
You Are HereNational
Tuesday, February 18, 2014-10:54 PM

नई दिल्ली : दिल्ली हाईकोर्ट ने बिजली कंपनियों के खातों की जांच नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) से कराए जाने की सुनवाई टाल दिया है।

न्यायमूर्ति प्रदीप नंदराजोग व न्यायमूर्ति जयंतनाथ की खंडपीठ ने मंगलवार को कोर्ट ने कहा कि वह इस मामले की सुनवाई 20 मार्च से करेगी। जिसमें यह तय किया जाएगा कि कैग को बिजली कंपनियों के खातों की जांच का अधिकार है या नहीं।
 
इस मामले में फरवरी, 2011 में यूनाइटेड आरडब्ल्यूए ज्वाइट एक्शन ने एक याचिका दायर कर सभी बिजली कंपनियों के खातों की जाच कैग से कराए जाने की माग की थी। वहीं कंपनियों द्वारा खातों में हेर-फेर करने के मामले की जाच सीबीआइ से कराने की मांग की थी।
 
मामले में दिल्ली सरकार ने कंपनियों के खातों की जांच कैग से कराने के आदेश जारी किए थे। दिल्ली सरकार द्वारा 7 जनवरी को जारी आदेश को बीएसईएस राजधानी पॉवर लिमिटेड, बीएसईएस यमुना पॉवर लिमिटेड ऑफ रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप व टाटा पॉवर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड ने दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। कंपनियों का कहना था कि कैग को उनके खातों की जांच करने का अधिकार नहीं है। यह मामला भी हाईकोर्ट में विचाराधीन है। अदालत उक्त दोनों मामलों पर एक साथ सुनवाई कर रही है।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You