ए.एस.आई. ने बचाई नेत्रहीन लड़की की लाज

  • ए.एस.आई. ने बचाई नेत्रहीन लड़की की लाज
You Are HereNational
Friday, February 21, 2014-2:05 AM
नई दिल्ली : राजेंद्र नगर इलाके में सरेआम एक नेत्रहीन लड़की को एक मनचले ने जबरन ऑटो में बैठाने की कोशिश की लेकिन एक बहादुर ए.एस.आई. महिला ने मनचले की सड़क पर ही पिटाई करके स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया। वारदात के बाद से लड़की काफी घबराई हुई है।
 
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पीड़ित लड़की रोहिणी के एक हॉस्टल में रहती है। वह पुसा रोड पर जानकी देवी मेमोरियल कॉलेज में प्रथम वर्ष की छात्रा है। वह हॉस्टल से कॉलेज के लिए डी.टी.सी. बस से जा रही थी। जब वह पूसा रोड बस स्टैंड पर पहुंची।
 
एक युवक जिसकी पहचान बाद में संदीप(26)के रूप में हुई। उसने उसे नीचे उतार दिया लेकिन बाद में वह उसे एक ऑटो में जबरन बैठाने लगा। तभी वहां से स्कूटर से आनंद पर्वत पुलिस स्टेशन में तैनात किरण सेठ वहां से कोर्ट जा रही थी। उस समय वह सादे कपड़ों में थी। किरण ने तभी वहां आकर संदीप को पकड़ लिया लेकिन ऑटोवाला वहां से फरार होने में कामयाब हो गया। संदीप किरण को सादे कपड़ो में देखकर उसके साथ बदतमीजी करने लगा और वहां से भागने की कोशिश करने लगा।
 
मगर किरण ने उसे नहीं छोड़ा। किरण ने तभी पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर आकर आरोपी संदीप को गिरफ्तार कर लिया। संदीप शादीशुदा है। उसका 1 बेटा भी है। वह कनॉट प्लेस में  हैंडीक्रॉफ्ट का काम करता है। वह पहले भी छेड़छाड़ के मामले में पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है। 
 
 किरण मार्शल आर्ट की एक्सपर्ट हैं। वह महिला सुरक्षा प्रोग्रामों में लड़कियों को सुरक्षा के गुर सिखाती हैं। उनकी इस बहादुरी के बाद दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों ने उसकी सराहना की है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You