मोदी की मुहिम पर भाजपा का पलीता

  • मोदी की मुहिम पर भाजपा का पलीता
You Are HereNational
Friday, February 21, 2014-6:51 AM
नई दिल्ली : एक ओर जहां नरेंद्र मोदी अल्पसंख्यकों को साथ लेने के लिए कोई भी कसर छोडऩा नहीं चाहते, वहीं क्षेत्रीय नेता अल्पसंख्यकों से दूरी बनाए हुए हैं। इस तरह वह मोदी की मुहीम पर ही पलीता लगाते नजर आ रहे हैं। उनका फोकस अभी उन वोटरों को बी.जे.पी. के लिए मजबूत करना है जो मोदी की लहर के चले उनके पाले में आसानी से आ जाए।
 
लोकसभा चुनाव के मद्देनजर नरेंद्र मोदी अल्पसंख्यकों की ताकत को बखूबी पहचान रहे हैं। यही वजह है कि  देश भर में हो रही रैलियों में मोदी अक्सर अल्पसंख्यकों को अपने साथ लेने की कोशिश करते नजर आते हैं। कभी वह हिन्दू-मुसलमानों को विकास के 2 पहिएं कहते हैं, तो कभी गुजरात में मुसलमानों का पूरा बी.जे.पी. को सहयोग होने की बात कहते हैं।
 
वह रैलियों में मौजूद बुर्का पहने महिलाओं व टोपी लगाए मुसलानों की मौजूदगी को भी भुनाने से नहीं चूकते। एक और जहां मोदी अल्पसंख्यक जनाधार को बी.जे.पी. के साथ लेने की जुगत में लगे हैं, वहीं क्षेत्रिय  नेता अभी भी अल्पसंख्यकों से दूरी बनाए हुए हैं। बी.जे.पी. के एक  सक्रिय नेता के अनुसार क्षेत्रिय नेताओं का अभी पूरा ध्यान उन वोटरों की ओर है जो मोदी लहर के चलते आसानी से उनके पाले में आ जाए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You