‘आप’ की अर्जी पर सुनवाई २४ को

  • ‘आप’ की अर्जी पर सुनवाई २४ को
You Are HereNational
Saturday, February 22, 2014-1:36 AM
नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट में आम आदमी पार्टी की उस याचिका पर सोमवार को सुनवाई होगी, जिसमें आप पार्टी विधानसभा भंग कर लोकसभा चुनावों के साथ ताजा चुनाव करवाने की मांग की थी।  कोर्ट इस याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। प्रधान न्यायाधीश पी. सदाशिवम की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि वह 24 फरवरी यानी सोमवार को याचिका पर सुनवाई करेगी। 
 
आप की तरफ  से पेश हुए वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि दिल्ली में किसी वैकल्पिक सरकार की संभावना नहीं है और उपराज्यपाल को विधानसभा भंग कर देना चाहिए। खबरों और सार्वजनिक रूप से उपलब्ध दस्तावेजों के आधार पर ‘आप’ और केजरीवाल कैबिनेट में परिवहन मंत्री रहे सौरभ भारद्वाज की ओर से दायर संयुक्त याचिका में उपराज्यपाल नजीब जंग की सिफारिशों के आधार पर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने के फैसले को चुनौती दी गई है। आरोप लगाया गया है कि कांग्रेस नेताओं और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को भ्रष्टाचार के आरोपों से बचाने के लिए यह कदम उठाया गया है।
 
सूत्रों के अनुसार दलील दी गई है कि 16 फरवरी के राष्ट्रपति शासन लागू करने के फैसले का मकसद भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में चल रही जांच में अड़ंगा पैदा करने का है, जिसमें अरविंद केजरीवाल सरकार ने एफ.आई.आर. दर्ज करवाई। याचिका में कहा गया है कि स्पष्ट तौर पर, दिल्ली विधानसभा को भंग नहीं करने और ताजा चुनाव नहीं करवाने के पीछे का मकसद दिसम्बर 2013 में दिल्ली विधानसभा चुनाव में बुरी तरह से पराजित होने वाली एक राजनीतिक पार्टी और भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों का सामना कर रही पूर्व मुख्यमंत्री व केंद्र सरकार में मंत्रियों सहित कई नेताओं को बचाने का है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You