CBI ने शुरु की मनरेगा की जांच, अधिकारियों में हड़कंप

  • CBI ने शुरु की मनरेगा की जांच, अधिकारियों में हड़कंप
You Are HereNational
Saturday, February 22, 2014-1:47 PM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सात जिलों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना (मनरेगा) में धांधली की रिपोर्ट लिखे जाने के साथ ही केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से इसकी जांच शुरु होते ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया। इस धांधली में 50 से अधिक राजपत्रित अधिकारी जांच के दायरे में हैं। एक अधिकारी इस समय मुख्यमंत्री सचिवालय में कार्यरत है। मनरेगा धांधली की जांच सीबीआई से कराने के लिए केंद्रीय ग्राम्य विकास मंत्री जयराम रमेश ने तीन बार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पत्र लिखा था लेकिन सीबीआई जांच अन्तत: इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ के आदेश से शुरु हुई।

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के शासन के दौरान मनरेगा में करीब 500 करोड़ रुपए से अधिक के घोटाले का आरोप है और इसमें सीबीआई ने पांच एफआईआर दर्ज की हैं। एफआईआर दर्ज होने के बाद से ही अफसरों में हड़कंप मच गया है। इस जांच के दायरे में कर्इं आईएएस और पीसीएस सहित करीब एक सौ अधिकारियों के अलावा इंजीनियर, कर्मचारी और जनप्रतिनिधि आ रहे हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You