दूसरा तीर्थ बनेगा क्षिप्रा-नर्मदा का संगम स्थल उज्जैनी: आडवाणी

  • दूसरा तीर्थ बनेगा क्षिप्रा-नर्मदा का संगम स्थल उज्जैनी: आडवाणी
You Are HereNational
Tuesday, February 25, 2014-9:44 PM

भोपाल: पूर्व उप प्रधानमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि क्षिप्रा-नर्मदा संगम स्थल होने की वजह से उज्जैनी ग्राम उज्जैन के बाद दूसरा तीर्थ बनेगा। आडवाणी ने इंदौर के करीब उज्जैनी में क्षिप्रा-नर्मदा लिक सिंहस्थ परियोजना के लोकार्पण समारोह में मंगलवार को कहा कि आज मुझे खुशी हो रही है कि जो सपना हमारे नेता अटल बिहारी बाजपेयी ने देखा था उसे मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार ने साकार कर दिखाया। उज्जैन महाकालेश्वर की वजह से प्रसिद्ध है तो उज्जैनी नर्मदा क्षिप्रा संगम की वजह से दूसरा तीर्थ स्थल बनेगा।

आडवाणी ने आगे कहा कि जब केन्द्र में राजग की सरकार थी और बाजपेयी प्रधानमंत्री थे तो उन्होंने नदियों को जोडऩे की योजना बनाई थी। उनकी कल्पना थी कि देश का कोई भी राज्य और किसान पानी के अभाव में न रहे। 2004 में कांग्रेस नीति की सरकार आई पर उसने इस योजना को ठंडे बस्ते में डाला दिया। उन्होंने कहा कई देशों में नदियां नहीं है लेकिन हिन्दुस्तान में नदियों का जाल बिछा हुआ है। कुछ नदी सूख गई इन्हें फिर से नदी जोड़ो योजना के माध्यम से जीवित किया जा सकता है। ऐसा यदि हुआ तो देश में करिश्मा हो जाएगा। किसी राज्य में सूखे की स्थिति निर्मित नहीं होगी।

उन्होंने गुजरात की साबरमती नदी का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘मैं उस प्रदेश का निवासी हूं। पहली बार अहमदाबाद गया, वहां से गांधी जी के आश्रम साबरमती भी गया। बचपन से एक गाना अकसर सुना करता था साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल। इस गाने की वजह से मन में कल्पना थी कि साबरमती नदी बड़ी भव्य होगी, लेकिन जब देखा तो वह नदी सूखी पड़ी थी किंतु आज वहां के मुख्यमंत्री ने नर्मदा का जल लाकर उसे भव्य नदी बना दिया है।’’

शिवराज सिंह को बधाई देते हुए आडवाणी ने कहा कि 14 महीने पहले जब इस लिंक योजना के भूमिपूजन पर आया था तब क्षिप्रा सूखी पड़ी थी, आज आया हूं तो क्षिप्रा नर्मदा के जल से कलकल बह रही है। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जब उन्होंने इस योजना के बारे में बात की तो कहा गया कि यह सम्भव नहीं है, लेकिन दृढ विश्वास और मेहनत से आज नर्मदा क्षिप्रा का मिलन हुआ है।

प्रदेश की दूसरी नदियों को भी जोड़ा जाएगा, हमारी कोशिश है कि किसान और जनता पानी के लिए न तरसे। इस अवसर पर लोकसभा में प्रतिपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, नितिन गडगरी, प्रदेश प्रभारी अंनत कुमार, सांसद सुमित्रा महाजन, बाबा रामदेव सहित कई हस्तियां और प्रदेश सरकार के मंत्री उपस्थित थे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You