'केंद्र की सरकार में वाम दलों के प्रतिनिधित्व की जरूरत'

  • 'केंद्र की सरकार में वाम दलों के प्रतिनिधित्व की जरूरत'
You Are HereNational
Thursday, February 27, 2014-8:42 AM

कोझिकोड: माकपा महासचिव प्रकाश करात ने इस बात पर जोर दिया कि वैकल्पिक जनहितैषी नीतियों के लिए केंद्र की सरकार में वामपंथी दलों का पर्याप्त प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने की जरूरत है।
 
उन्होंने कहा, ‘‘11 अन्य दलों के सहयोग से माकपा ने पहले ही भाजपा और कांग्रेस के मजबूत विकल्प के लिए दिल्ली में संयुक्त घोषणापत्र जारी कर दिया है।’’
 
पार्टी के राज्य सचिव पिनारायी विजयन के नेतृत्व में केरल रक्षा मार्च के समापन सत्र को संबोधित करते हुए करात ने आरोप लगाया कि संप्रग सरकार ने भ्रष्टाचार, कॉर्पोरट संस्कृति लाने और जनविरोधी नीतियां बनाने में नया रिकॉर्ड बना लिया है।

उन्होंने लोकसभा के अंतिम सत्र के समापन के बाद भ्रष्टाचार के खिलाफ पांच अध्यादेश लाने के केंद्र के कदम पर कड़ी आपत्ति जताई। करात ने कहा कि भाजपा खुद को कांग्रेस के विकल्प के तौर पर पेश कर रही है लेकिन वह भी कॉर्पोरेट के पक्ष वाली आर्थिक नीतियों को अपना रही है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You