हरियाणा को नंबर वन बनाने का श्रेय पंजाबियों को : हुड्डा

  • हरियाणा को नंबर वन बनाने का श्रेय पंजाबियों को : हुड्डा
You Are HereNational
Tuesday, March 04, 2014-2:48 PM

पंचकूला: सन 1947 में जब देश का विभाजन हुआ तो उस समय हरियाणा बहुत ही पिछड़ा राज्य था लेकिन आज हरियाणा नंबर वन राज्य बन गया है। हरियाणा को नंबर वन राज्य बनाने का श्रेय अगर किसी को जाता है तो वह पंजाबी ही हैं। मुख्यमंत्री सोमवार को सैक्टर-5 इंद्रधनुष ऑडीटोरिम में पंजाबी एकता मंच पंचकूला (रजि.) हरियाणा द्वारा आयोजित पंजाबी मिलन समारोह-2014 के अवसर पर मुख्यातिथि के रूप में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि पंजाबियों का समाज को आगे ले जाने में विशेष योगदान रहा है। अच्छा खाना, अच्छा पहनना पंजाबियों की ही समाज को देन है। पंजाबी कड़ी मेहनत करके समाज, व्यापार, शिक्षा व अन्य सभी क्षेत्रों में  आगे आए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा  सरकार द्वारा 2005 में पंजाबी भाषा को राज्य की दूसरी भाषा का दर्जा दिया गया, ताकि भाषा की लिपी की पकड़ मजबूत हो और पंजाबी लोग अपनी विरासत से दूर न हों। उन्होंने पंजाबी समाज के लोगों द्वारा पंचकूला में पंजाबी भवन के लिए स्थान उपलब्ध करवाने की मांग पर कहा कि समाज के लोगों के दुख-सुख में एकत्रित होने के लिए स्थान जरूर होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसकी एक प्रक्रिया है और इसके लिए विज्ञापन निकलता है। वे इसके लिए आवेदन करें और इस दिशा में शेष भूमिका वे स्वयं निभाएंगे।

उन्होंने अन्य मांगों के बारे में कहा कि वह इस दिशा में विचार करके निर्णय लेंगे। इस अवसर पर में राज्य सभा सदस्य एवं पंजाबी एकता मंच पंचकूला (रजि.) हरियाणा के पैटर्न शादी लाल बत्तरा ने कहा कि पंजाबी समुदाय मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा का प्रदेश में पंजाबी भाषा को प्रदेश में दूसरी भाषा का दर्जा देने, पंजाबी साहित्य अकादमी, 10 प्रतिशत आरक्षण, प्रदेश मेें पंजाबी के अध्यापकों की नियुक्ति जैसे महत्वपूर्ण कार्य करने के दृष्टिगत हमेशा ऋणि रहेगा।

वहीं नगर परिषद की पूर्व प्रधान मनवीर कौर गिल ने मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में चलाई गई समाज कल्याण स्कीमों एवं ऐतिहासिक निर्णयों पर अपने संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश में 600 महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं, जिनका सभी वर्ग के लोग लाभ उठा रहे हैं। वहीं विभिन्न पंजाबियों की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान सरकार को भेजे गए प्रोपोजल के अनुसार जब वीजा में रिलैक्सेशन मिलेगा तो हरियाणा सरकार एक नीति  तैयार करके सन् 1947 से पहले के जन्मे व्यक्तियों को पाकिस्तान में अपने गांव को देखने जाने की दिशा में नि:शुल्क यात्रा करने की सुविधा उपलब्ध करवाएगी।

समारोह में मौजूद पंजाबी एकता मंच के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री के समक्ष पंजाबी भवन की मांग के साथ-साथ पंजाबी को टिकट देने के साथ-साथ क्षेत्र की कुछ समस्याएं भी रखीं। मुख्यमंत्री ने जिला उपायुक्त को आदेश दिए कि समस्या का जल्द समाधान करवाया जाए। पंजाबी एकता मंच पंचकूला ने मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को पगड़ी पहनाकर व स्मृति चिन्ह देकर उनका सम्मान किया। इसके साथ-साथ स्थानीय विधायक डी.के. बंसल व मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार प्रोफैसर वीरेंद्र सिंह को भी स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You