मौत होने पर डॉक्टर के पति को 35 लाख का मुआवजा

  • मौत होने पर  डॉक्टर के पति को 35 लाख का मुआवजा
You Are HereNcr
Thursday, March 06, 2014-11:06 PM
नई दिल्ली : सड़क दुर्घटना में एक डॉक्टर महिला की मौत हो जाने के मामले में दिल्ली की एक मोटर एक्सीडैंट क्लेम ट्रिब्यूनल ने रक्षा मंत्रालय व आर्मी को निर्देश दिया है कि वह इस महिला के पति को 35 लाख रुपए मुआवजे के तौर पर दे। 
 
आर्मी की एक जीप के नीचे आने से 32 वर्षीय रेडियोलॉजिस्ट की मौत हो गई थी। ट्रिब्यूनल ने मंत्रालय व आर्मी से कहा है कि वह मृतका डॉक्टर हर्षा मुंशी के पति डॉक्टर मिहिर श्रेयांस मुंशी को 35 लाख 51 हजार 580 रुपए मुआवजे के तौर पर दें। ट्रिब्यूनल ने कहा कि जीप के मालिक मंत्रालय व आर्मी थे, इसलिए जीप चालक द्वारा की गई लापरवाही के लिए वह जिम्मेदार हैं।
 
ट्रिब्यूनल ने कहा कि तमाम तथ्यों से यह जाहिर हो रहा है कि जीप चालक की लापरवाही के कारण डॉक्टर हर्षा की मौत हुई है। ट्रिब्यूनल के जज हरीष डूडानी ने कहा कि इसलिए मंत्रालय व आर्मी मुआवजा देने के लिए जिम्मेदार ठहराए जा रहे हैं और एक महीने के अंदर मुआवजा दे दिया जाए।
 
मुम्बई निवासी डॉक्टर हर्षा के पति ने अदालत को बताया था कि एक फरवरी 2007 को वह मानसिंह रोड के पास टै्रफिक सिग्नल पार कर रहे थे, तभी राजपथ की तरफ से एक आर्मी की जीप आई और रैड लाइट को तोड़ते हुए उनकी सैंट्रो कार को टक्कर मार दी। इस दुर्घटना में उसकी पत्नी की मौत हो गई। 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You