भाजपा ने उपवास की आड़ में चंदा वसूला: कांग्रेस

  • भाजपा ने उपवास की आड़ में चंदा वसूला: कांग्रेस
You Are HereNational
Friday, March 07, 2014-8:32 PM

भोपाल: मध्य प्रदेश की कांग्रेस इकाई ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को शिकायत कर भोपाल में आयोजित उपवास में मुख्यमंत्री सहित मंत्रियों के शामिल होने को आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करार दिया है। साथ ही उपवास की आड़ में धन वसूली का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने सभी को बर्खास्त करने की मांग की है। 

कांग्रेस का आरोप है कि लोकसभा चुनाव को लेकर आदर्श आचार संहिता के प्रभावशील रहते मुख्यमंत्री एवं उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों ने भारतीय जनता पार्टी (भजपा) के चुनावी फायदे के लिए अवैध रूप से धरना-उपवास रखा और उसकी आड़ में चंदे के बतौर सात करोड़ रुपये अवैध ढंग से वसूले। यह आचार संहिता का उल्लंघन और संवैधानिक मर्यादाओं का खुला मखौल है।
 
मालूम हो कि भाजपा ने गुरुवार को केंद्र सरकार द्वारा आपदा पीड़ित किसानों को राहत राशि न देने के विरोध में आधे दिन का बंद और सरकार ने उपवास रखा था। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष मानक अग्रवाल ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मुलाकात के बाद बताया है कि चुनाव आयोग ने कांग्रेस की शिकायत का तत्काल संज्ञान ले लिया है और कलेक्टर, भोपाल से इस संबंध में रिपोर्ट तलब की है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल से कहा है कि कलेक्टर से रिपोर्ट प्राप्त होने पर प्रकरण में आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

चुनाव आयोग को सौंपी शिकायत का ब्योरा देते हुए अग्रवाल ने कहा है कि भाजपा और उसकी सरकार द्वारा इस भारी अवैध धन वसूली के संबंध में यह प्रचारित किया जा रहा है कि धरना-उपवास के दौरान यह धन मुख्य मंत्री राहत कोष के लिए इकट्ठा किया गया था। दोनों का यह तर्क किसी भी दृष्टि से तर्कसंगत प्रतीत नहीं होता, क्योंकि मुख्यमंत्री राहत कोष एक सरकारी वित्तीय व्यवस्था है जो शासन के नियमों के तहत संचालित होती है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You