महिलाओं की सुरक्षा के लिए मैट्रो पर तैनात होंगे विशेष महिला कमांडो दस्ता

  • महिलाओं की सुरक्षा के लिए मैट्रो पर तैनात होंगे विशेष महिला कमांडो दस्ता
You Are HereNcr
Saturday, March 08, 2014-10:27 PM

नई दिल्ली :  दिल्ली मेट्रो में महिलाओं की सुरक्षा के लिए जल्द ही  विशेष महिला कमांडो का दस्ता तैनात किया जाएगा । इस महिला कमांडो दस्ते की सबसे खास बात ये है कि इसमें शामिल एक महिला कमांडो बिना हथियार के ही करीब दस लोगों से निपटने में सक्षम होगी।

सीआईएसएफ अपने स्थापना दिवस और महिला दिवस के अवसर पर महिला सुरक्षा को सबसे अहम बताते हुए ये फैसला लिया है । सीआईएसएफ के महानिदेशक अरविंद रंजन ने ये जानकारी दी कि  इस दस्ते में शामिल महिलाओं को विशेष कमांडो ट्रेनिंग दी जाएगी । इस दस्ते की कमांडो सिविल ड्रेस में मेट्रो स्टेशन पर तैनात रहेंगी. फिलहाल सीआईएसएफ में करीब 6000 महिला सुरक्षा कर्मी हैं।

मेट्रो में आए दिन हो रही जेबतरासी की वारदातों से निपटने के लिए भी सीआईएसएफ ने कमर कस ली है. इन वारदातों को रोकने के लिए अब तक 111 अभियान चलाए गए है जिसके तहत 466 जेबकतरों को पकड़ा गया है ।  लेकिन सीआईएसएफ के लिए सबसे बड़ी चुनौती महिला गैंग को रोकने की है. सीआईएसएफ महानिदेशक ने खुद माना है कि मेट्रो के अंदर इस गैंग की सक्रियता काफी बढ़ गई है।  ये गैंग मेट्रो के अंदर जेबतरासी की वारदातों को बड़ी सफाई से अंजाम देता है. हालांकी इसे रोकने के लिए सीआईएसएफ ने अपनी कावायद तेज कर दी है । 
 
मेट्रो स्टेशनों पर सुसाइड की वरादातों को रोकने के लिए सीआईएसएफ एक खास ट्रेनिंग देने की तैयारी कर रही है।  इस दस्ते को ऐसी ट्रेनिंग दी जाएगी कि वो ऐसे लोगों की पहचान कर सके जो मेट्रो स्टेशनों पर सुसाइड करने के मकसद से पहुंचते है ।  ऐसे लोगों को पहचान कर ये दस्ता उनकी काउंसलिंग कराएगा. हालांकि पिछले साल सीआईएसएफ ने छह लोगों को सुसाइड करने से भी बचाया है । मेट्रो में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीआईएसएफ कई कवायदें कर रही है. पिछले साल सीआईएसएफ ने 15 हजार से ज्यादा मनचलों को पकड़ा था. साथ ही साथ हेल्प-लाईन नम्बर 011- 22158888 भी शुरू किया था जिसमें करीब बारह हजार कॉल आए थे । 
 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You