चुनाव से पहले ही जाली नोटों की तस्करी शुरू!

  • चुनाव से पहले ही जाली नोटों की तस्करी शुरू!
You Are HereNational
Sunday, March 09, 2014-1:01 PM

नई दिल्ली: विदेशों से जाली भारतीय नोटों (एफआईसीएन) की तस्करी में इजाफा हो रहा है, जिसके मद्देनजर वित्तीय खुफिया एजेंसियों ने अपनी सतर्कता बढ़ा दी है। आगामी लोकसभा चुनाव के चलते जाली नोटों की तस्करी में और बढ़ोतरी होने की आशंका है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राजस्व खुफिया विभाग (डीआरआई) की जांच में यह तथ्य सामने आया है कि पाकिस्तान में छापी गई जाली भारतीय मुद्रा की तस्करी के लिए पड़ोसी देशों श्रीलंका, नेपाल व बांग्लादेश के रास्तों का इस्तेमाल बढ़ रहा है।

डीआरआई के अधिकारियों ने अप्रैल, 2013 से जनवरी, 2014 के दौरान भारत से बाहर ऐसे पांच मामले दर्ज किए हैं और करीब 15 लाख रुपए की जाली भारतीय मुद्रा बरामद की है। सूत्रों ने बताया कि डीआरआई और दूसरे देशों के अधिकारियों के संयुक्त अभियान के दौरान आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से तीन पाकिस्तानी नागरिक हैं।

वर्ष 2012-13 के दौरान एफआईसीएन की तस्करी के आठ मामले दर्ज किए गए थे। इस दौरान पांच पाकिस्तानियों सहित 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इन मामलों में 6.35 लाख रुपए की जाली मुद्रा बराबद हुई।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You