शिमला: कांग्रेस और भाजपा के बीच होगी कांटे की टक्कर

  • शिमला: कांग्रेस और भाजपा के बीच होगी कांटे की टक्कर
You Are HereNational
Tuesday, March 11, 2014-4:24 PM

शिमला: शिमला लोकसभा संसदीय क्षेत्र में इस बार सत्तारुढ़ कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर होने की संभावना है। वर्ष 2012 में हुए विधानसभा चुनाव का आंकलन करें तो संसदीय क्षेत्र के तहत आने वाले 17 विधानसभा क्षेत्रों में से 8 पर कांग्रेस के विधायक काबिज है जबकि 7 पर भाजपा तो 2 पर आजाद प्रत्याशियों का वर्चस्व है।

शिमला संसदीय क्षेत्र पर 1967, 1971, 1980 से लेकर 1998 और 2004 में कांग्रेस का वर्चस्व रहा है लेकिन वर्ष 2009 में हुए लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को यहां एक बढ़ी हार का सामना करना पड़ा था और भाजपा प्रत्याशी वीरेंद्र कश्यप ने 4,10,946 मत लेकर कांग्रेस प्रत्याशी धनीराम शांडिल को मात दी थी।

इन चुनाव में कांग्रेस 183619 वोट पर ही सिमट गई थी। ऐसे में भाजपा प्रयासरत है कि पुर्न: उक्त  संसदीय क्षेत्र में अपना वर्चस्व कायम रखा जा सके। इसके लिए पार्टी व्यापक रणनीतियों के तहत काम कर रहीं है जबकि कांग्रेस उक्त सीट पर अभी तक अपना प्रत्याशी भी घोषित नहीं कर पाई है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You