INS सिंधुरत्न हादसा: मारे गए नौ सैन्य अधिकारियों के परिजनों को मिलेगा एक करोड़ रूपये

  • INS सिंधुरत्न हादसा: मारे गए नौ सैन्य अधिकारियों के परिजनों को मिलेगा एक करोड़ रूपये
You Are HereNational
Friday, March 14, 2014-12:52 PM

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट पनडुब्बी आईएनएस सिंधुरत्न में हुए हादसे की अदालत की निगरानी में जांच कराने और मारे गए दो नौ सैन्य अधिकारियों के परिजनों को एक-एक करोड़ रूपये के मुआवजे की मांग को लेकर एक जनहित याचिका पर सुनवाई के लिए राजी हो गया है।

त्वरित सुनवाई के उल्लेख के साथ प्रधान न्यायाधीश पी सदाशिवम की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष आयी इस याचिका पर अब 28 मार्च को सुनवाई होगी। याचिका में दावा किया गया है कि पनडुब्बी में कथित तौर पर तकनीकी खामी और बैटरियों का सही तरीके से रख-रखाव नहीं होने की वजह से अधिकारियों की मौत हुयी। याचिका में अदालत की निगरानी वाली जांच की मांग की गयी है जिससे पता लगाया जा सके कि बैटरियों और अन्य सुरक्षा उपकरणों का सही रखरखाव हुआ अथवा नहीं।

वकील सुब्रत दास और एन राजारमण की ओर से दाखिल याचिका में पनडुब्बियों खासकर सिंधुरत्न के रख रखाव से जुड़े नौसैन्य कमान और रक्षा मंत्रालय के बीच संवाद कायम करने के लिए निर्देश देने की भी मांग की गयी है।  26 फरवरी को मुंबई तट से करीब 40 समुद्री मील दूर सिंधुरत्न में आग लगने से सात कर्मी भी घायल हो गए थे।  घटना के बाद नौसैन्य प्रमुख एडमिरल डी के जोशी ने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया था।

नौसेना ने कहा था कि मानवीय आकलन में हुयी चूक से सिंधुरत्न के तारों (केबलों) में आग लगी थी। जांच में मानक संचालन प्रकिया में कमी का उल्लेख किया गया था। जनहित याचिका में सशस्त्र बलों के उपकरणों की मरम्मत और उन्हें बदलने को लेकर आग्रह पर उठाए गए कदम के बारे में स्थिति रिपोर्ट पेश करने के लिए रक्षा मंत्रालय को निर्देश देने की मांग की गयी है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You