जानिए, डॉक्टरों ने कैसे किया एक 'मुर्दे' को जिंदा...

  • जानिए, डॉक्टरों ने कैसे किया एक 'मुर्दे' को जिंदा...
You Are HereNational
Friday, March 14, 2014-2:58 PM

नई दिल्ली: डॉक्टरों के प्रयास ने एक मुर्दे को जिंदा कर दिखाया है। महाराष्ट्र के औरंगाबाद मेंं 41 वर्षीय व्यक्ति सरदार संजीत सिंह मौत के मुंह से लौट आए हैं। वह महात्मा गांधी मिशन चैरिटेबल अस्पताल के एक्सरे विभाग में काम करते हैं। संजीत को छाती में दर्द, घबरहाट और बेचैनी की शिकायत होने पर वह डॉक्टर के पास गए। डॉक्टर ने पाया कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा है। जब उन्हेें कैजुल्टी वार्ड में ले जाया गया तो उनका ब्लड प्रैशर बिल्कुल गिर चुका था। थोड़ी देर बाद उनके दिल ने काम करना बंद कर दिया।

संजीत सिंह का इलाज कर रहे डॉक्टर प्रशांत उडगिरे ने बताया कि संजीत सिंह क्‍लीकिनली डेड हो चुके थे। ईसीजी मशीन पर सीधी लकीर दिख रही थी, जिसका मतलब हुआ कि वह मर चुके  हैं। डॉक्टरों ने उन्हें वेंटिलेशन पर रखा और उन्हें एक पेस मेकर लगाया गया। उनकी ऐंजियोप्लास्टी करके धमनी को खोला गया। इसके बाद उन्हें 100 बार सीपीआर दिया गया। सीपीआर में सीने पर जोर का दबाव बार-बार डाला जाता है।

डॉक्टरों ने इस बात का ध्यान रखा कि उनके ब्लड का संचार उनके मस्तिष्क तथा अन्य महत्वपूर्ण अंगों तक होता रहे। लगभग डेढ़ घंटे के प्रयास के बाद संजीत सिंह के दिल ने फिर से धड़कना शुरू कर दिया। डॉक्टरों का मानना है कि यह असंभव-सी बात इसलिए संभव हुई क्योंकि संजीत की उम्र ज्यादा नहीं है और उन्हें तुंरत मेडिकल सहायता मिल गई।


 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You