भाजपा के ‘शाहजादों’ की लंबी फेहरिश्त

  • भाजपा के ‘शाहजादों’ की लंबी फेहरिश्त
You Are HereNcr
Wednesday, March 26, 2014-9:04 PM

नई दिल्ली: कांग्रेस पर वंशवादी राजनीति करने का आरोप लगाने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) भी इस बीमारी से अछूती नहीं है। पार्टी ने भी लोकसभा चुनाव में दर्जनों नेताओं के बेटे-बेटियों को प्रत्याशी बनाया है। भाजपा के प्रधानमंत्री पद प्रत्याशी नरेंद्र मोदी अक्सर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ‘शाहजादा’ कह कर संबोधित करते हैं और कांग्रेस को ‘सुल्तान’ वाली पार्टी की तरह उद्धृत करते हैं। लेकिन भाजपा के प्रत्याशियों की सूची को देखने पर पता चलता है कि पार्टी इससे अछूती नहीं है।

वंशवाद के खिलाफ विषबमन करने के बावजूद पार्टी के तीन वर्तमान और दो पूर्व मुख्यमंत्रियों के बेटे लोकसभा चुनाव मैदान में हैं। हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर हमीरपुर लोकसभा सीट से दोबारा मैदान में हैं, तो पार्टी नेता मेनका गांधी के बेटे वरुण गांधी पीलीभीत की जगह इस बार सुल्तानपुर से भाग्य आजमा रहे हैं। सुल्तानपुर लोकसभा क्षेत्र उनके चचेरे भाई और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के निर्वाचन क्षेत्र अमेठी का पड़ोसी है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रमोद महाजन की बेटी पूनम महाजन मुंबई उत्तर मध्य से भाजपा की प्रत्याशी हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री और पार्टी के सांसद यशवंत सिन्हा के बेटे जयंत पिता की हजारीबाग सीट से दांव आजमा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के बेटे राजबीर सिंह एटा से चुनाव लड़ रहे हैं। दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री साहिब सिंह वर्मा के बेटे और विधायक प्रवेश वर्मा पश्चिमी दिल्ली से मैदान में हैं।

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बेटे अभिषेक को पार्टी ने राजनादगांव लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी बनाया है। भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर इसका बचाव करते हुए कहते हैं, ‘‘कांग्रेस का वशंवाद नेतृत्व में वंशवाद है। यह किसी को सांसद या विधायक बनाने से संबंधित नहीं है। कांग्रेस में यह शिखर से शुरू होकर नीचे तक आता है और यह पूरी तरह से वंशवाद है।’’

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You