आखिर क्यों, 24 घंटे तक बिना किसी जुर्म के थाने में बंद रही लड़की!

  • आखिर क्यों, 24 घंटे तक बिना किसी जुर्म के थाने में बंद रही लड़की!
You Are HereMadhya Pradesh
Thursday, March 27, 2014-5:43 PM

भोपाल: मध्य प्रदेश के भोपाल में 24 घंटे तक एक बेगुनाह लड़की को पुलिस स्टेशन में बंद रखने का मामला सामने आया है। 19 वर्षीय युवती का क्या अपराध है, उसे थाने क्यों भेजा गया इसकी बात की कोई जानकारी नहीं है। जानकारी के मुताबिक, लड़की को जिला महिला सशक्तिकरण सीहोर ने 28 फरवरी को भोपाल बालिका गृह भेजा, जहां मारपीट करने की वजह से अधीक्षक ने उसे रखने से मना कर दिया और उसे 4 मार्च को उसे ग्वालियर मानसिक चिकित्सालय भेज दिया। यहां लड़की के मानसिक परीक्षण के बाद उसे 7 मार्च को वापस भेज दिया।

अस्पताल ने लड़की को मानसिक रुप से स्वस्थ बताया, परंतु बालिका गृह ने भी उसे रखने से मना कर दिया और लड़की को 10 मार्च को अरेरा कॉलोनी स्थित आफ्टर केयर होम भेज दिया गया, लेकिन यहां पर भी झगड़ा होने के बाद 20 मार्च को उसे उज्जैन स्थित नारी निकेतन भेज दिया गया। वहां से भी 23 मार्च को युवती को वापस भेज दिया गया। इसके बाद भोपाल जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी ने उसे महिला थाने में 24 घंटे की हिरासत में भेज दिया, जहां उसे लॉकअप में रखा गया। कलेक्टर निशांत वरवडे के हस्तक्षेप के बाद युवती को थाने से निकालकर हमीदिया अस्पताल भेज दिया गया।

इस बारे में जब महिला सशक्तिकरण संचालक कल्पना श्रीवास्तव से बात की, तो उनका कहना था कि कलेक्टर निशांत वरवडे ने युवती को पुलिस कस्टडी में रखने के निर्देश दिए थे। उनका कहना था कि इस मामले को कलेक्टर देख रहे है। इधर, कलेक्टर निशांत वरवडे का कहना है कि उन्होंने किसी भी युवती को पुलिस हिरासत में भेजने के निर्देश नहीं दिए है। उनके संज्ञान में यह मामला सोमवार शाम 5 बजे आया है। युवती को व्यवहारगत समस्या है, उसका हमीदिया अस्पताल में डॉक्टर आरएन साहू से इलाज कराया जा रहा है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You