इस बच्चों को है ऐसी बीमारी...जो लाखों में एक को होती है

  • इस बच्चों को है ऐसी बीमारी...जो लाखों में एक को होती है
You Are HereNational
Thursday, April 03, 2014-10:18 AM

रायपुर: आपने जेनेटिक बीमारियों के बारे सुना है जिससे बच्चे का शारीरिक विकास नहीं हो पाता लेकिन छत्तीसगढ़ के रायपुर में आंबेडकर अस्पताल में एक ऐसी बीमारी से जूझ रहा बच्चा दाखिल हुआ जो लाखों में से किसी एक को होती है। इस बच्चे के दोनों हाथों की उंगलियां आपस में जुड़ी हुई हैं और उसके तालू में छेद भी है। इतना ही नहीं कई बार तो बच्चे की आंखे तक बाहर को निकल आती हैं। डाक्टरों ने बताया कि बच्चे को क्रोमोसोम सिंड्रोम व एपर्ट सिंड्रोम नाम की बीमारी है जो कि गर्भावस्था के दौरान बरती गई असावधानी के कारण होती है।

 

बिल्हा तहसील के ग्राम कोटिया निवासी राजेंद्र प्रसाद के 4 साल के बेटे का वजन महज साढ़े चार किलोग्राम है। उसे मंगलवार को अंबेडकर अस्पताल में भर्ती करवाया गया। अस्पताल के डाक्टरों ने बताया कि क्रोमोसोम सिंड्रोम होने के कई कारण हो सकते हैं। गर्भावस्था की प्रथम तिमाही में इस तरह के संक्रमण की आशंका रहती है।  प्रदूषण, जहरीला पदार्थ, दवाई, रेडिएशन व संक्रमण इस बीमारी के प्रमुख कारण होते हैं।

 

उन्होंने बताया कि सोनोग्राफी जांच से इस बीमारी का पता तभी चलता है, जब सोनोलॉजिस्ट से संबंधित जांच करने के लिए कहा जाए। सामान्य जांच में इस बीमारी का पता नहीं चलता। वहीं शिशु रोग विशेषज्ञों का कहना है कि इस बीमारी के बाद बालक का सामान्य होना मुश्किल है। आंबेडकर अस्पताल में इस तरह का पिछला मामला आठ साल पहले आया था।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You