Subscribe Now!

चीन-पाकिस्तान से वार्ता, नक्सलियों से क्यों नहीं: अग्निवेश

  • चीन-पाकिस्तान से वार्ता, नक्सलियों से क्यों नहीं: अग्निवेश
You Are HereChhattisgarh
Sunday, April 06, 2014-6:41 PM

नारायणपुर: आम आदमी पार्टी (आप) की बस्तर सीट से उम्मीदवार सोनी सोरी के प्रचार के लिए आए सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश ने नक्सलियों और सरकार से अपील की है कि चुनाव तक ‘युद्धविराम’ हो ताकि चुनाव बगैर खूनखराबे के निपट सके। उन्होंने कहा कि जब भारत सरकार चीन और पाकिस्तान से वार्ता कर सकती है तो वह अंदरूनी मामलों में नक्सलियों से वार्ता के लिए आगे क्यों नहीं आ रही है?

पत्रकारों से चर्चा में अग्निवेश ने कहा कि नक्सलियों से वार्ता नहीं किए जाने का नतीजा पिछले साल यह हुआ कि झीरम घाटी में कांग्रेस के बहुत से नेता मारे गए। इसके अलावा देश के कितने सिपाही और आदिवासियों को जान गंवानी पड़ रही है। उन्होंने नक्सलियों से चुनाव बहिष्कार न करने की अपील की और कहा कि सरकार भी युद्धविराम पर अमल करे। उन्होंने लोगों से बगैर भय के मतदान करने की अपील की। सोनी सोरी को देश की बहादुर बेटी का दर्जा देते स्वामी ने कहा कि सोनी ने काफी प्रताडऩा झेली है।

उनके पक्ष में मतदान करने की अपील करने के लिए वह आम जनता के पास जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहली बार नक्सलियों के चंगुल से पांच जवानों को मुक्त करवाने के लिए मध्यस्थ के रूप में वह यहां आए थे। तब मुख्यमंत्री रमन सिंह ने उनकी तारीफ की थी। वहीं जब उन्होंने मुख्यमंत्री से पांच जवानों के बदले जेल से पांच निर्दोष आदिवासियों को छोडऩे को कहा तो उन्होंने बात नहीं मानी। स्वामी अग्निवेश ने कहा कि संयुक्त बलों की कार्रवाई में बस्तर के नेता, जवान और निर्दोष आदिवासी मारे जा रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि बस्तर में ग्राम सभाओं को उनका हक नहीं मिला है। संविधान पूरी रीति से यहां लागू नहीं है। अबूझमाड़ के मतदान केंद्रों की शिफ्टिंग का विरोध करते हुए स्वामी ने कहा कि वे चुनाव आयोग से चर्चा कर निर्धारित स्थानों पर ही मतदान कराने की बात अपनी ओर से रखेंगे।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You