मैंने ‘व्यापम ’ घोटाले का पर्दाफाश किया, मुझ पर ही आरोप: चौहान

  • मैंने ‘व्यापम ’ घोटाले का पर्दाफाश किया, मुझ पर ही आरोप: चौहान
You Are HereNational
Sunday, July 20, 2014-4:47 PM
नई दिल्ली: राज्य भर्ती बोर्ड द्वारा चयन में कथित अनियमितताओं  को लेकर आलोचनाओं का शिकार हो रहे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज अपने इस्तीफे की मांग तथा उनके और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मतभेदों की किसी भी चर्चा को खारिज कर दिया। इसके बजाय चौहान ने कहा कि उन्हें घोटाले का ‘पर्दाफाश’ करने का श्रेय दिया जाना चाहिए। 
 
चौहान ने कहा, ‘‘वे इस्तीफे की मांग करते हैं। कांग्रेस हम पर आरोप लगाती है कि चौहान और उनकी पत्नी ने भर्तियां की। उनके पास इसका एक भी सबूत नहीं है।’’ चौहान ने  एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘वे महसूस करते हैं कि जब तक वे मेरी छवि नहीं बिगाड़ लेंगे , वे सफल नहीं हो सकते। जनता के बीच मेरी मजबूत छवि उनके दर्द का कारण है।’’ 
 
मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा बोर्ड (एम.पी.पी.ई.बी.) द्वारा की जाने वाली भर्तियों में कथित अनियमितताएं पाई गई थीं। बोर्ड अध्यापकों सहित विभिन्न सरकारी नौकरियों के लिए चयन करता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस नेता इस मुद्दे पर झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ एम.पी.पी.ई.बी. द्वारा 3, 58, 490 भर्तियां की गई थीं। कथित अनियमितता 228 मामलों में पाई गई। इस घोटाले का पर्दाफाश शिवराज सिंह चौहान ने किया था, कांग्रेस या मीडिया ने नहीं।’’
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You