पीओके में पाकिस्तान की मनमानी बंद करने की मांग

  • पीओके में पाकिस्तान की मनमानी बंद करने की मांग
You Are HereNational
Saturday, August 12, 2017-4:30 PM

मुज्जफराबाद: पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के राजनीतिज्ञों ने पीओके में पाकिस्तान की मनमानियां बंद करने की मांग की है। पीओके राजनीतिज्ञ डा मिसफर हसन खान ने कहा कि गिनगिट और बालटीस्तान तथा पीओके में पाक राजनीतिका पार्टियों का शोषण पूर्णत: बंद होना चाहिए। उन्होंने कहा, मैं पाकिस्तान की राजनीतिक पार्टियों को सन्देश देना चाहता हूं कि वे अपनी शोषण की दुकानों को बंद करें।


डा मिसफर खान जम्मू कश्मीर लिब्रेयान यूरोप के प्रधान हैं। कश्मीरी नेता ने पीओके के प्रधानमंत्री का स्पोर्ट किया और कहा कि अपने कानूनी अधिकार के तहत इस्लामाबाद पीओके को अपना गुलाम नहीं बना सकता है। वहीं एक अन्य राजनीतिज्ञ सज्जाद राजा ने कहा, मुझे दुख होता है यह कहते हुए कि शुरूआत से ही पाकिस्तान असंवैधानिक गतिविधियों से पीओके का शोषण कर रहा है। पाकिस्तान कश्मीर को अपनी संपत्ति समझता है। मीडिया के माध्यम से मैं पाकिस्तान को बताना चाहता हूं कि कश्मीरी जनता उसकी गुलाम नहीं है।


उन्होंने कहा कि कश्मीर एक प्राकृतिक संसाधन संपन्न प्रांत है पर पाकिस्तान की गलत नीतियों के कारण लोगों की जिन्दगी दयानीय है। यह प्रांत कभी विकसित नहीं हो पाया है। लोगों के पास नौकरियां नहीं है और क्षेत्र में कोई विकास नहीं है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You