लोअर और मिडिल बर्थ पर यात्रा करने वालों के लिए बुरी खबर, इनके लिए रेलवे ने बदले ये नियम

  • लोअर और मिडिल बर्थ पर यात्रा करने वालों के लिए बुरी खबर, इनके लिए रेलवे ने बदले ये नियम
You Are HereNational
Thursday, September 14, 2017-3:05 AM

नई दिल्लीः ट्रेन में लोअर, मिडिल या साइड लोअर बर्थ पाने वाले यात्रियों के बुरी खबर है। इनके लिए रेलवे ने अपने नियमों में थोड़ा बदलाव किया है। दरअसल, इन तीनों बर्थ पर यात्रा करने वाले यात्रियों को अब ट्रेन में सोने के लिए 1 घंटे का कम समय मिलेगा। 

रेलवे के नए नियमों के मुताबिक सभी आरक्षित कोच में लोअर बर्थ सुबह 6 बजे से लेकर रात 10 बजे तक बैठने के लिए होगी और रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक सोने के लिए होगी।

आपको बता दें कि अभी तक रात 9 बजे तक ही लोअर बर्थ बैठने के लिए होती थी और फिर उसके बाद सोने के लिए होती थी। ऐसे 1 घंटे कम हो जाएगी आपकी नींद अगर लोअर बर्थ पर यात्री बैठे हैं तो आप सो नहीं सकते हैं और अब नए नियम के अनुसार आप 10 बजे से पहले सो नहीं सकेंगे।

भले ही रेलवे ने नया नियम बनाते हुए लोगों की नींद को 1 घंटे घटा दिया है लेकिन उसके बावजूद रेलवे ने यात्रियों से एक खास गुजारिश की है।

रेलवे ने कहा है कि अगर कोई गर्भवती, दिव्यांग या फिर कोई बीमार यात्री हो तो उसे सहयात्री जल्दी सोने की सुविधा दें। दरअसल, गर्भवती, दिव्यांग या फिर बीमार व्यक्ति को अपर बर्थ पर जाने में दिक्कत होती है और उसे लोअर बर्थ पर यात्रा करने में आराम रहता है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You