भाजपा का दावा, कांग्रेस नीत सरकार पूरी तरह नैतिक अलगाव की स्थिति में

  • भाजपा का दावा, कांग्रेस नीत सरकार पूरी तरह नैतिक अलगाव की स्थिति में
You Are HereNcr
Wednesday, March 05, 2014-5:40 PM

नई दिल्ली: भाजपा ने आज कहा कि आगामी आम चुनाव आते आते कांग्रेस नीत संप्रग सरकार का इकबाल इस हद तक गिर गया है कि यह पूरी तरह नैतिक अलगाव की स्थिति में आ गई है। सरकार अपने आचरण के कारण अलग थलग पड़ चुकी है और कोई भी उसके झूठे काम में हाथ नहीं डालना चाहता है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता अरूण जेटली ने अपने इस दावे के समर्थन में दो उदाहरण देते हुए कहा कि पहले भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी को ‘‘उलझन’’ में डालने के इरादे से गुजरात में एक लड़की की जासूसी मामले में संप्रग सरकार द्वारा गठित जांच आयोग की अध्यक्षता करने का एक के बाद एक उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीशों से आग्रह किया गया।

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष ने कहा, ‘‘लेकिन शीर्ष अदालत के उन न्यायाधीशों ने राजनीति से प्रेरित इस कार्य के लिए अपनी सेवाएं देने से इंकार कर दिया। इसके बाद उच्च न्यायालय के कुछ सेवानिवृत्त न्यायाधीशों से ऐसा आग्रह किया गया मगर उन्होंने भी स्पष्ट कर दिया कि इस तरह के काम के लिए वे उपलब्ध नहीं हैं।’’

जेटली ने कहा कि इसी तरह लोकपाल के चेयरमैन और उसके सदस्यों का चयन करने के लिए सर्च कमेटी (खोज समिति) गठित की गई लेकिन प्रख्यात न्यायविद फली नरीमन और उसके बाद न्यायमूर्ति के. टी. थॉमस ने सर्च कमेटी का हिस्सा बनने से इंकार कर दिया।

उन्होंने कहा, अब यह स्पष्ट है कि लोकपाल जैसी संस्था को उसके अस्तित्व में आने से पहले ही नष्ट कर दिया गया है। प्रतिष्ठित और ख्यातिप्राप्त व्यक्ति इसकी सर्च और चयन समितियों से जुडऩे से इंकार कर रहे हैं।

भाजपा नेता ने अपने वेबसाइट पर जारी लेख में दावा किया, ‘‘कांग्रेस नीत सरकार पूरी तरह नैतिक अलगाव की स्थिति में आ गई है। सरकार अपने आचरण के कारण अलग थलग पड़ चुकी है और कोई भी उसके झूठे काम में हाथ नहीं डालना चाहता है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You