केदारनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए होगा ‘हाईटेक’ इंतजाम: रावत

  • केदारनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए होगा ‘हाईटेक’ इंतजाम: रावत
You Are HereUttrakhand
Sunday, March 09, 2014-12:31 PM

नर्इ दिल्ली: केदारनाथ यात्रा में सुरक्षा के चाक चौबंद उपाय को अपनी प्राथमिकता बताते हुए उत्तरांचल के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि दूरसंचार नेटवर्क को अत्याधुनिक बनाया जाएगा और प्राकृतिक बदलावों का समय से पता लगाने के लिए खास उपग्रह भी मांगे गए हैं।
 
केदारनाथ मंदिर के कपाट चार मई को खुलेंगे और पिछले साल बाढ से हुई भीषण तबाही के मद्देनजर इस साल सुरक्षा के विशेष उपाय किए जा रहे हैं। रावत ने मीडिया को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘‘यात्रियों के भीतर सुरक्षा की भावना भरना पहली चुनौती है और इसके लिए अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा।

हम दूरसंचार नेटवर्क को आधुनिक बनाकर यात्रियों को पंजीयन के समय खास मोबाइल एप देंगे जिसे वे खतरे में होने पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके मुख्यालय भीमबली और गुप्तकाशी में बनाये जाएंगे।’’
 
उन्होंने आगे बताया, ‘‘बीएसएनएल को आधुनिक उपकरण लगाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा मोबाइल एप तैयार करने के लिये दो तीन कंपनियों से बात चल रही है जिसमें से एक ने प्रेजेंटेशन भी दे दिया है। यात्रा शुरू होने से पहले इस योजना का क्रियान्वयन हो जायेगा।’’
 
रावत ने कहा कि पुलिस नेटवर्क को भी मजबूत बनाते हुए उपरी इलाके में एक चौकी बनाई जाएगी।  उन्होंने कहा, ‘‘केदारनाथ में शीर्ष पर पुलिस चौकी बनाई जाएगी । भीमबली, गौरीकुंड और रंचोरी में बेस कैम्प लगाए जाएंगे जहां से सुरक्षा की दृष्टि से सीमित संख्या में लोगों को आगे भेजा जाएगा। बेस कैम्प के अलावा जहां संभव हो वहां प्री फैब्रिकेटेड मकान बनाए जाएंगे।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You