खेल के मैदान का शेर हूं, राजनीति में कभी दौड़ नहीं लगाऊंगा: मिल्खा सिंह

  • खेल के मैदान का शेर हूं, राजनीति में कभी दौड़ नहीं लगाऊंगा: मिल्खा सिंह
You Are HereNational
Tuesday, March 11, 2014-10:30 AM

चंडीगढ: उडऩ सिख मिल्खा सिंह ने तृणमूल कांग्रेस की ओर से आए टिकट के ऑफर को ठुकरा दिया है। मिल्खा सिंह ने स्पष्ट किया है कि वह खेल मैदान के शेर रहे हैं इसलिए राजनीति में कभी दौड़ नहीं लगाएंगे। तृणमूल कांग्रेस ने मिल्खा को लोकसभा चुनावों के लिए चंडीगढ़ से टिकट ऑफर की है।

‘पंजाब केसरी’ से विशेष बातचीत में उन्होंने स्वीकारा कि उन्हें ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस से राजनीतिक पारी की शुरूआत करने की पेशकश हुई थी। उन्होंने कहा कि यदि उन्होंने राजनीति में ही प्रवेश करना होता तो वह पंडित जवाहर लाल नेहरू के प्रधानमंत्री रहते ही प्रवेश कर सकते थे। पंडित नेहरू ने उन्हें खेल के मैदान में धाक जमाने के पश्चात राजनीति में भी ऐसा ही करने के लिए पे्ररित किया था लेकिन उन्होंने तब भी इस क्षेत्र में किस्मत आजमाना ठीक नहीं समझा। आज बेशक खेल जगत से जुड़ी कई हस्तियां राजनीति में किस्मत आजमाने के लिए प्रयासरत हैं लेकिन कई दशक बीत जाने के पश्चात भी उनकी राजनीति में न जाने की सोच में कोई बदलाव नहीं आया।

नेताओं की छवि नहीं है ठीक

मिल्खा सिंह ने कहा कि मुझे शुरू से ही राजनीति में दिलचस्पी नहीं थी। एक व्यक्ति सभी लोगों को खुश नहीं रख सकता। उससे भी कहीं न कहीं गलती हो जाती है। आप जितना भी अच्छा काम कर लो उससे कुछ लोग नाराज तो कुछ खुश होते हैं। इन सभी चीजों को देखते हुए मैंने राजनीति में आना उचित नहीं समझा। उन्होंने कहा कि मैदान के बाद जिस प्रकार लोग मुझे इज्जत देते हैं यदि मैं राजनीति में होता तो मुझे यह सम्मान नहीं मिलता।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You