<

दिल्ली पुलिस ने भटकल के सहयोगी को लेकर किया खुलासा

  • दिल्ली पुलिस ने भटकल के सहयोगी को लेकर किया खुलासा
You Are HereNational
Monday, March 24, 2014-3:57 PM

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने एक अदालत को आज बताया कि इंडियन मुजाहिदीन के सह-संस्थापक यासीन भटकल के निकट सहयोगी असदुल्ला अख्तर ने मोहम्मद आतिफ अमीन से शहर में 13 सितंबर 2008 को सिलसिलेवार धमाकों को अंजाम देने की योजना पर चर्चा की थी। अमीन बाद में बाटला हाउस मुठभेड़ में मारा गया था। 

दिल्ली पुलिस की विशेष प्रकोष्ठ ने अदालत को बताया कि फोरेंसिक रिपोर्ट के अनुसार अख्तर की आवाज का नमूना उसके और अमीन के बीच सात और आठ सितंबर 2008 को टेलीफोन पर हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग से मेल खाता है। अमीन 19 सितंबर 2008 को बटला हाउस मुठभेड़ में मारा गया था।

इस मुठभेड़ में दौरान दिल्ली पुलिस के निरीक्षक एम सी शर्मा भी मारे गये थे। पुलिस ने 2008 में हुए बम धमाकों के मामले में भटकल और अख्तर के खिलाफ अपनी जांच पूरी करने के लिए तीन अप्रैल तक का समय मांगते हुए कहा, ‘‘ इसका परिणाम प्राप्त कर लिया गया है और परिणाम के अनुसार असदुल्ला अख्तर की आवाज का नमूना पहले ही सुनी गई टेलीफोन पर की गई बातचीत से मेल खाता है।’’ 

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश दया प्रकाश ने पुलिस की याचिका मंजूर कर ली जबकि भटकल और अख्तर की जमानत याचिका खारिज कर दी।  दोनों आरोपियों ने जमानत की याचिका दायर की थी। ये दोनों आरोपी मुंबई में दर्ज मामलों में कथित भूमिकाओं को लेकर महाराष्ट्र एटीएस की हिरासत में हैं।

  भटकल और अख्तर ने वकील एम एस खान के जरिए दायर अपनी जमानत याचिका में कहा कि अदालत के समक्ष आरोपी की पेशी के बिना जांच की अवधि बढाने का कोई प्रावधान नहीं है और क्योंकि अभी तक आरोप पत्र दायर नहीं किया गया है इसलिए उनकी जमानत मंजूर की जानी चाहिए। 

पुलिस ने जांच पूरी करने की अवधि बढाने के लिए याचिका दायर करके कहा कि उन्हें एक वांछित आरोपी के बारे में भी जानकारी मिली हैं।  पुलिस ने कहा, ‘‘ आरोपी आरिज खान उर्फ जुनैद को पकडऩे का अभियान जारी है और टीमें उसका पता लगाने और इस मामले में उसे पकडऩे की कोशिश में लगी हैं। ... इसके अलावा मामले में शामिल एक अन्य संदिग्ध का पश्चिम एशियाई देश में होने का पता लगा है और उसके प्रत्यर्पण के लिए आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।’’ दिल्ली में हुए सिलसिलेवार धमाकों में 26 लोग मारे गए थे और 135 लोग घायल हुये  थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You