भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के हरसंभव प्रयास किए: मनमोहन

  • भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के हरसंभव प्रयास किए: मनमोहन
You Are HereNational
Sunday, April 06, 2014-11:27 PM

कोच्चि: प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह ने भ्रष्टाचार पर आंकुश नहीं लगाने के विभिन्न पार्टियों के आरोपों को खारिज करते हुए आज कहा कि केन्द्र की कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार ने इस पर रोक लगाने के हरसंभव उपाए किए हैं। डा. सिंह ने यहां कांग्रेस प्रत्याशी और केन्द्रीय खाद्य राज्यमंत्री के.वी. थामस के पक्ष में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस तरह के आरोप पूरी तरह झूठ हैं और सच्चाई यह है कि अन्य सरकारों के मुकाबले हमारी सरकार ने इससे निपटने के प्रभावी कदम उठाए हैं।

उन्होंने कहा कि हालांकि संप्रग सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ कई कानून बनाने का प्रयास किया है लेकिन विपक्ष का सहयोग नहीं मिलनें के कारण इन्हें लागू नही किया जा सका है। कुछ पार्टियां भ्रष्टाचार से लडने के लिए अपनी आवाज उठाने की बात कहती हैं लेकिन जनता उनके दावों की सच्चाई जान सकती है। प्रधानमंत्री ने कहा भ्रष्टाचार से लडने के लिए हम और अधिक कानून बनाने चाहते थे लेकिन ससंद में विपक्षी पार्टियों का सहयोग नहीं मिलने से कानून नहीं बनाए जा सके हैं।

मै इन तथ्यों की वास्तविकता आप सबके सामने रख रहा हूं ताकि आप खुद ही निर्णय ले सके कि भ्रष्टाचार के खिलाफ किसने कितनी आवाज उठाई। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार से लडने की दिशा में लोकपाल विधेयक एक बडा कदम था। प्रधानमंत्री ने कहा हमने संसाधनों के आवंटन में आबंटन की एक प्रणाली की शुरूआत की थी ताकि इसमें हो रही अनियमितताओं की संभावनाओं को दूर किया जा सके।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You