इशांत चिंता मत करो, हर किसी के साथ ऐसा होता है: फाकनर

  • इशांत चिंता मत करो, हर किसी के साथ ऐसा होता है: फाकनर
You Are HereSports
Sunday, October 20, 2013-1:08 PM

मोहाली: इशांत शर्मा को तीसरे वन डे में जेम्स फाकनर के जानबूझकर तेज गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाने के फैसले का खामियाजा भुगतना पड़ा और ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिये मैच का रूख बदलने वाले आलराउंडर ने इस भारतीय तेज गेंदबाज के प्रति सहानुभूति जताते हुए कहा कि प्रत्येक गेंदबाज के कुछ दिन ऐसे होते हैं जब उसकी गेंदों की ‘पिटायी’ होती है।

फाकनर की 29 गेंद में 64 रन की पारी ने बीती रात मैच का रूख पलट दिया, ऑस्ट्रेलिया ने तीन गेंद और चार विकेट रहते 304 रन का लक्ष्य हासिल कर लिया। फाकनर ने इशांत को 48वें ओवर में निशाना बनाया और इसमें एक चौके और चार छक्के की मदद से 30 रन जुटाये जिससे मैच की स्थिति बदल गयी। बाद में उन्होंने इशांत से सहानुभूति जताते हुए कहा कि ऐसा किसी भी अच्छे गेंदबाज के साथ हो सकता है।

उन्होंने कहा, ‘‘उस चरण (48वें ओवर) में गेंदबाजी करने में हमेशा दबाव होता है। मैं जानता हूं क्योंकि मैंने ऑस्ट्रेलिया के लिये कुछ बार ऐसा किया है। ऐसे भी दिन होते हैं जब आप बेवकूफ दिखते हो और ऐसा मेरे साथ कई बार हुआ है, इस बारे में चिंता मत करो।’’ फाकनर ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘ऐसा भी समय होता है जब आप अच्छा ओवर फेंको और टीम के लिये मैच जीतो, यही क्रिकेट है।’’ इस जीत से सात मैचों की श्रृंखला में ऑस्ट्रेलिया ने 2.1 से बढ़त बना ली है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You