‘सट्टेबाजी को कानूनी मान्यता देने में कोई बुराई नहीं’

  • ‘सट्टेबाजी को कानूनी मान्यता देने में कोई बुराई नहीं’
You Are HereSports
Wednesday, November 13, 2013-12:33 PM

नई दिल्ली: केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कहा कि क्रिकेट में सट्टेबाजी को कानूनी मान्यता देने में कोई बुराई नहीं है और इससे अवैध सट्टेबाजी को रोकने में मदद मिलेगी। सीबीआई के निदेशक रंजीत सिन्हा ने विज्ञान भवन में सीबीआई द्वारा ‘खेलों में अखंडता’ कानून की जरुरत और सीबीआई की भूमिका, विषय पर आयोजित परिचर्चा में कहा ‘जब राज्यों में कैसिनो इत्यादि चलते हैं तो फिर सट्टेबाजी को कानूनी जामा देने में कोई बुराई नहीं है। इससे खेलों में भ्रष्टाचार ही रकेगा और सरकार को राजस्व भी मिलेगा।’

लेकिन सीबीआई निदेशक के ठीक विपरीत भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को भ्रष्टाचार रोधी इकाई के प्रमुख और सीबीआई के पूर्व अधिकारी रवि सवानी ने कहा ‘इसकी कोई जरुरत नहीं है। आप सट्टेबाजी को कानूनी मान्यता दे दें तो इसका कोई फर्क नहीं पडेगा। सरकार के पास बस थोडा राजस्व ही आएगा। इससे सट्टेबाजी सिंडिकेट पर कोई नियंत्रण नहीं लगाया जा सकता।’

इस बीच पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान राहुल द्रविड़ ने सट्टेबाजी को कानूनी मान्यता देने पर कहा कि यदि जांच एजेंसियों को लगता है कि सट्टेबाजी को कानूनी मान्यता दी जा सकती है तो फिर मुझे इस बात पर कोई आपत्ति नहीं है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You