भारतीय तीरंदाजी संघ मनायेगा 40 साल का जश्न

  • भारतीय तीरंदाजी संघ मनायेगा 40 साल का जश्न
You Are HereSports
Saturday, January 11, 2014-4:31 PM

नई दिल्ली: भारतीय तीरंदाजी संघ अपने 40 साल पूरे होने का जश्न रविवार को यमुना स्पोट्र्स काम्पलैक्स में मनाएगा जहां संघ अपने सभी अर्जुन, द्रोणाचार्य और पदमश्री अवार्डियों, पूर्व और मौजूदा ओलंपियनों, अंतर्राष्ट्रीय तीरंदाजों, पदाधिकारियों, आयोजकों एवं तकनीकी अधिकारियों को सम्मानित करेगा। भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) के अध्यक्ष प्रोफेसर विजय कुमार मल्होत्रा ने शनिवार को संवाददाताओं को यह जानकारी देते हुए बताया कि तीरंदाजी संघ का गठन 1973 में हुआ था। इससे पहले तक यह निशानेबाजी संघ का हिस्सा हुआ करता था। लेकिन उनके प्रयासों से तीरंदाजी संघ को गठित किया गया था।

मल्होत्रा ने कहा कि पहले साल संघ के पास मात्र चार राज्य थे। लेकिन अब उसकी 45 इकाईयां हो चुकी है। उन्होंने कहा ‘हमने तीरंदाजी को एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल कराया था। मैं खुद एशियाई तीरंदाजी का पहला अध्यक्ष बना था। आज भारत तीरंदाजी में दुनिया के शीर्ष पांच खेलों में शुमार हो चुका है और इन 40 वर्षों में यह हमारी सबसे बड़ी उपलब्धि है।’ उन्होंने इस अवसर पर तीरंदाजी संघ के अन्य संस्थापक सदस्यों स्वर्गीय एल एन खुराना और स्वर्गीय गोपेश मेहरा को याद किया।

उन्होंने साथ ही कहा ‘स्वर्गीय वुडवर्ड सोहलिया और स्वर्गीय विजय एच देशपांडे तथा परेश नाथ मुखर्जी के सहयोग और समर्पण से तीरंदाजी संघ इस मंजिल तक पहुंच सका है।’ मल्होत्रा ने बताया कि तीरंदाजी में अपने योगदान और सेवाओं से देश को गौरवान्वित करने वालों को सम्मानित करने वालों को संघ ने आमंत्रित किया है। इनमें एक पदमश्री अवार्डी लिम्बा राम, 13 अर्जुन अवार्डी और दो द्रोणाचार्य शामिल हैं। उनके अलावा पूर्व और मौजूदा ओलंपियनों, प्रख्यात अंतर्राष्ट्रीय तीरंदाजों, एएआई के पदाधिकारियों, आयोजकों एवं तकनीकी अधिकारियों को समारोह में आमंत्रित किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You