अफ्रीकी फुटबॉल खिलाडिय़ों को खूब भा रहा भारत

  • अफ्रीकी फुटबॉल खिलाडिय़ों को खूब भा रहा भारत
You Are HereSports
Monday, January 13, 2014-3:34 PM

नई दिल्ली: अपने घरों से इतनी दूर अफ्रीका के फुटबॉल खिलाडिय़ों को यहां भारत की हरी घासयुक्त पिचों पर खेलना खूब भा रहा है। उन्होंने पिछले दो दशकों में न सिर्फ लाखों भारतीयों का दिल जीत लिया है, बल्कि वे देश में युवा फुटबॉल खिलाडिय़ों के प्रेरणा स्रोत भी बन चुके हैं। देश के विभिन्न क्लबों में इस समय करीबन 400 अफ्रीकी खिलाड़ी खेल रहे हैं, जिनमें लगभग 25 खिलाड़ी तो प्रतिष्ठित फुटबॉल लीग टूर्नामेंट में शीर्ष क्लबों की तरफ से भी खेलते हैं।

ये अफ्रीकी खिलाड़ी यहां नाइजीरिया, घाना, लाइबेरिया, सिएरा लियोन और दक्षिण सूडान से इतनी दूर खेलों में अपनी जमीन तैयार करने की जद्दोजहद में लगे हुए हैं। ऐसे समय में जब देश फुटबॉल में विश्व के शीर्ष देशों की फेहरिस्त में शामिल होने के लिए संघर्ष कर रहा है, इन अफ्रीकी खिलाडिय़ों ने देश के फुटबॉल को नई दिशा दी है। यूरोप एवं अमेरिकी फुटबॉल लीग में खेलने के लिए मेहनत कर रहे भारतीय खिलाडिय़ों के लिए ये अफ्रीकी खिलाड़ी अपनी गजब की शक्ति एवं सामथ्र्य से चुनौती भी बने हुए हैं।

चाहे आप कोलकाता चले जाएं या बेंगलुरू, मुंबई, पुणे या गोवा हर जगह शीर्ष फुटबॉल क्लबों में आपको ये अफ्रीकी खिलाड़ी नजर आ जाएंगे। इसमें इतने आश्चर्य की बात भी नहीं है, वास्तव में ये भारतीय क्लब इन अफ्रीकी खिलाडिय़ों को शामिल करने के लिए हर सत्र में एक लाख से चार लाख डॉलर तक खर्च करती हैं। देश के किसी भी क्लब में इस समय सर्वाधिक करार राशि पाने वाले अफ्रीकी खिलाड़ी हैं, मोहन बागान के कप्तान ओडाफे ओन्येका ओकोली। मोहन बागान ने ओकोली को तकरीबन चार लाख डॉलर की करार राशि पर शामिल किया है।

ओकोली के हमवतन रैंटी मार्टिंस यूनाइटेट एससी के लिए खेलते हैं, तथा करार राशि के मामले में वह ओकोली से ज्यादा पीछे नहीं हैं। सच्चाई यह है कि पिछले छह सत्रों में नाइजीरिया के ओकोली और रैंटी आई लीग में सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी हैं। इसी से अफ्रीकी खिलाडिय़ों के भारतीय फुटबाल पर दबदबे को समझा जा सकता है। ओकोली ने कहा, ‘‘भारत ने मुझे शोहरत दी। यदि मैं नाइजीरिया में ही रह जाता तो मैं इतनी ख्याति और प्रसिद्धि कभी नहीं हासिल कर पाता। भारत में भी अनेक बेहतरीन खिलाड़ी हैं, तथा उनके साथ खेलना बहुत अच्छे अनुभव वाला है।’’ भारतीय टीम के पूर्व कोच सुखविंदर सिंह का मानना है कि ओकोली जैसे खिलाडिय़ों के कारण दर्शक फुटबॉल देखने आते हैं, तथा इससे फुटबॉल की लोकप्रियता में इजाफा हुआ है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You