भारत में नहीं है 70 मिनट खेलने की क्षमता!

  • भारत में नहीं है 70 मिनट खेलने की क्षमता!
You Are HereSports
Thursday, January 16, 2014-4:31 PM

नई दिल्ली: भारतीय हाकी टीम की पूरे 70 मिनट खेलने की क्षमता पर पिछले कई वर्षों से सवाल उठते रहे हैं और हीरो वल्र्ड हाकी लीग फाइनल में बुधवार रात विश्व चैंपियन आस्ट्रेलिया से 2-7 के बड़े अंतर से मिली शर्मनाक पराजय से यह बात एक बार फिर साबित हो गई है।

भारत ने मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में आस्ट्रेलिया के खिलाफ ताबड़तोड़ शुरूआत करते हुए 11 मिनट तक 2-0 की बढ़त बना ली थी। भारतीय टीम पहले 20 मिनट तक बढ़चढ़ कर खेली। लेकिन 20 मिनट गुजरते ही भारतीय टीम का जोश धीरे-धीरे ठंडा होता चला गया जिसका फायदा उठाकर आस्ट्रेलिया ने सात गोल ठोकते हुए मेजबान टीम की कलई खोल दी।

 
इस मैच से एक बार फिर साबित हो गया कि भारतीय खिलाडिय़ों मे मैच के 70 मिनट तक एक ही दमखम के साथ खेलने की क्षमता नहीं है। भारतीय टीम के प्रमुख कोच टेरी वाल्श ने भी स्वीकार किया कि उनकी टीम शारीरिक रूप से मजबूत आस्ट्रेलियाई खिलाडिय़ों के दमखम का मुकाबला नहीं कर पाई।
 
वाल्श ने कहा, ‘‘हमें भारतीय खिलाडिय़ों की शारीरिक क्षमता को और बढ़ाना होगा। हमारे खिलाड़ी जब मजबूत खिलाडिय़ों के सामने उतरते हैं तो एक समय के बाद उनपर थकान हावी होने लगती है। हमारे खिलाड़ी 24 मिनट बाद ही थकान महसूस करने लगे थे।’’
 
आस्ट्रेलिया के कोच रिक चाल्र्सवर्थ ने कहा, ‘‘हमारे लिए पहले 15 मिनट अच्छे नहीं थे। भारत ने शुरूआत में काफी तेज तर्रार खेल दिखाया था। मैं इससे कुछ ङ्क्षचतित जरूर हुआ था। लेकिन मैं जानता था कि जैसे ही भारतीय खिलाडिय़ों की गति धीमी पड़ेगी हमारे खिलाड़ी उनके गोल पर धावा बोल देंगे।’’
 
भारत का इस हार के साथ आस्ट्रेलिया के खिलाफ खराब प्रदर्शन का सिलसिला लगातार बना हुआ है। आस्ट्रेलिया ने 2010 में इसी नेशनल स्टेडियम में विश्वकप में भारत को 5-2 से और राष्ट्रमंडल खेलों के फाइनल में 8-0 से रौंदंा था। आस्ट्रेलिया ने गत वर्ष हाकी वल्र्ड लीग सेमीफाइनल में भी भारत को 5-1 से हराया था।
 
मौजूदा टूर्नामेंट में भारत इंग्लैंड से 0-2 से और न्यूजीलैंड से 1-3 से पराजित हुआ था। लेकिन जब उसने विश्व की नंबर एक टीम और ओलंपिक चैंपियन जर्मनी से 3-3 का ड्रा खेला था तो ऐसा लगा था कि भारतीय टीम घरेलू समर्थन से कुछ अच्छा प्रदर्शन कर जाएगी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You