शूमाकर को अब ‘चमत्कार’ का सहारा

  • शूमाकर को अब ‘चमत्कार’ का सहारा
You Are HereSports
Sunday, March 09, 2014-8:14 PM

लंदन: दुर्घटना का शिकार हुए सात बार के फार्मूला वन चैंपियन जर्मनी के माइकल शूमाकर का इलाज कर रहे डाक्टरों ने उनके परिवार से कह दिया है कि अब केवल कोई चमत्कार ही शूमाकर की जान बचा सकता है।

45 साल के शूमाकर गत 29 दिसंबर को फ्रांसीसी आल्प्स रिजार्ट मेरिबेल में स्कीइंग करते समय दुर्घटना का शिकार हो गए थे। शूमाकर का सिर पत्थर से जा टकराया था और उसकी दो बार सर्जरी की जा चुकी है। उनके मस्तिष्क को दबाव से बचाने के लिए उन्हें कृत्रिम रूप से कोमा में रखा गया है।

ब्रिटेन के अखबार ‘डेली टेलीग्राफ’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक शूमाकर की पत्नी कोरिना और भाई राल्फ शूमाकर पूरे यूरोप से जानेमाने मस्तिष्क सर्जनों की सलाह लेने में लगे हुए थे। रिपोर्ट में कहा गया है कि सर्जनों ने शूमाकर के परिजनों से कहा है कि इस चैंपियन ड्राइवर के बचने की संभावना बहुत कम है।

रिपोर्ट में सूत्रों को उद्धृत करते हुए कहा गया है कि शूमाकर के परिजनों का मानना है कि फ्रांसीसी शहर ग्रेनोबल में उनका इलाज कर रहे डाक्टर मान चुके हैं कि शूमाकर की स्थिति में सुधार आने की बहुत कम संभावना है।

दुनियाभर के चिकित्सा विशेषज्ञों का भी मानना है कि शूमाकर का पूरी तरह ठीक होना नामुमकिन है। उनका कहना है कि सामान्यत: मरीज को कृत्रिम रूप से अधिकतम तीन सप्ताह तक कोमा में रखा जा सकता है लेकिन शूमाकर की स्थिति में इस दौरान कोई उल्लेखनीय सुधार नहीं देखा गया और यही वजह है कि उनके ठीक होने की संभावना बहुत कम है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You