टी-20 विश्व कप : भारत ने वैस्टइंडीज को ‘धोया’

  • टी-20 विश्व कप : भारत ने वैस्टइंडीज को ‘धोया’
You Are HereSports
Sunday, March 23, 2014-11:43 PM

मीरपुर: भारत ने वैस्टइंडीज को सात विकेट से हराकर टी-20 विश्व कप मैच में लगातार दूसरी जीत दर्ज की है। भारतीय स्पिनरों के शानदार प्रदर्शन के बाद एक बार फिर भारतीय बल्लेबाजों के दमदार प्रदर्शन की बदौलत आई.सी.सी. विश्व टी-20 चैम्पियनशिप के ग्रुप-बी के लीग मैच में भारत ने वैस्टइंडीज के दिए गए 130 रनों के लक्ष्य को 19.4 ओवर में हासिल कर 7 विकेट से जीत दर्ज की।

भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (0) के सस्ते में आऊट होने के बाद रोहित शर्मा (नाबाद 62) और विराट कोहली (54) ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। दोनों ने वैस्टइंडीज के गेंदबाजों की धुनाई करते हुए उन्हें अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया। रोहित और कोहली ने 106 रनों की महत्वपूर्ण सांझेदारी कर भारत को जीत के करीब पहुंचाया।

इससे पहले भारतीय स्पिनरों ने फिर से अपना जलवा दिखाया हुए वैस्टइंडीज को 7 विकेट पर 129 रन ही बनाने दिए। लैग स्पिनर अमित मिश्रा ने फिर से प्रभावशाली गेंदबाजी की और 4 ओवर में 18 रन देकर 2 विकेट लिए। रविचंद्रन अश्विन (24 रन देकर 1 विकेट) ने भी लैग स्टम्प की लाइन पर गेंदबाजी करके बल्लेबाजों पर अंकुश लगाए रखा।

रवींद्र जडेजा (48 रन पर 3 विकेट) पर लेंडल सिमन्स (27) ने कुछ बड़े शॉट लगाए लेकिन महत्वपूर्ण विकेट लेने के लिए वह भी प्रशंसा के पात्र रहे। भारतीय टीम के स्पिनरों ने 7 में से 6 विकेट हासिल किए। क्रिस गेल ने वैस्टइंडीज की तरफ से सर्वाधिक 34 रन बनाए लेकिन वह किसी भी समय अपने रंग में नहीं दिखे। वैस्टइंडीज के अन्य बल्लेबाज भी मजबूत भारतीय स्पिन आक्रमण के सामने जूझते नजर आए।

लेकिन भुवनेश्वर कुमार से श्रेय नहीं छीना जा सकता जिन्होंने पावरप्ले के दौरान बेहतरीन गेंदबाजी की तथा 3 ओवर में केवल 3 रन दिए। उस समय गेल और ड्वेन स्मिथ जैसे आक्रामक बल्लेबाज क्रीज पर थे लेकिन भुवनेश्वर ने 16 डॉट गेंदें कीं। स्मिथ को उन्होंने लगातार परेशान किया जबकि दूसरे छोर पर गेल को तब जीवनदान मिला जबकि उन्होंने खाता भी नहीं खोला था। शमी की गेंद पर पहली स्लिप में अश्विन ने उनका कैच छोड़ा।

गेल ने शमी के अगले ओवर में छक्का और चौका जड़ा। इसके बाद उन्होंने मिश्रा का स्वागत भी छक्के से किया लेकिन यहां पर फिर से भाग्य ने उनका साथ दिया। गेल ने मिश्रा की गेंद हवा में लहराई लेकिन इस बार किसी और ने नहीं बल्कि युवराज सिंह ने आसान कैच टपकाया। गेल तब 19 रन पर थे।

अश्विन ने इस बीच स्मिथ को कैरम बॉल पर वापस कैच देने के लिए मजबूर किया। स्मिथ ने 29 गेंदों का सामना करके केवल 11 रन बनाए। वैस्टइंडीज ने 10.4 ओवर में 50 रन बनाए। गेल भी 2 जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाए और सैमुअल्स के साथ गफलत के कारण रन आऊट हो गए। मिश्रा ने इसके बाद फ्लाइट लेती गेंद पर सैमुअल्स को छकाया। बल्लेबाज लंबा शॉट खेलने के लिए आगे बढ़ गए लेकिन लैग ब्रेक उनको छकाकर महेंद्र सिंह धोनी के पास चली गई जिन्होंने स्टम्प आऊट की औपचारिकता पूरी की।

मिश्रा की अगली गेंद गुगली थी जिस पर ड्वेन ब्रावो (0) पगबाधा आऊट हुए। कप्तान डैरेन सैमी ने मिश्रा की हैट्रिक बचाई लेकिन तब तक वैस्टइंडीज की बड़ा स्कोर खड़ा करने की उम्मीदें समाप्त हो गई थीं। जडेजा का आखिरी ओवर महंगा साबित हुआ। उन्होंने इस ओवर में 2 विकेट लिए लेकिन इस बीच उन पर 3 छक्के भी पड़े।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You