अब खरीदारी पर लगाम लगाएगा 'Smart eye bags'

  • अब खरीदारी पर लगाम लगाएगा 'Smart eye bags'
You Are HereInternational
Friday, January 31, 2014-4:29 PM

लंदन: बहुत सारे लोग ऐसे हैं जिनकी आमदनी तो अठन्नी है, लेकिन खर्च रूपया है और वे अपनी इस शाहखर्ची से परेशान भी रहते हैं, लेकिन खरीदारी की लत ऐसी है कि पसंदीदा शॉपिंग स्टोर दिखा नहीं कि कदम खुद-ब-खुद उधर मुड़ गए। खरीदारों के लिए अब तक बैग का इस्तेमाल पर्स रखने और खरीदा हुआ सामान रखने के लिए ही होता था, लेकिन अब यह बैग उन्हें शाहखर्ची से रोकेगा। है न अजीब, लेकिन यह बिल्कुल सच है कि खरीदारी की लत से परेशान लोगों के लिए 'आई बैग' एक वरदान जैसा साबित हो सकता है।

डेली मेल के अनुसार, आई बैग में एक स्मार्ट सेंसर लगाया गया है, जो खरीदारी करने वाले अपने मालिक के पर्स पर निगाह रखता है।अगर यह अपने मालिक को बेहिसाब खरीदारी करते देखता है या जब उसका मालिक अपने पसंदीदा स्टोर में होता है तो यह खुद-ब-खुद लॉक हो जाता है।

इसमें एक घड़ी भी है, जिसके सहारे इस बैग को वैसे समय पर लॉक किया जा सकता है जिस समय इसका मालिक अधिक खरीदारी करता है। इसमें मोबाइल फोन के जरिए अलर्ट सिस्टम भी लगाया गया है जो मालिक के मोबाइल फोन पर एक मैसेज भेजकर उसे बताता है कि वह खरीदारी के डेंजर जोन में आ गया है अर्थात उसने जरूरत से अधिक खरीदारी कर ली है। इसमें जीपीएस चिप से संचालित एलईडी लाइट लगाई गई है, जो ऐसे समय में जल उठती है। इस बैग का निर्माण करने का आइडिया एक सर्वेक्षण के बाद आया, जब पाया गया कि क्रेडिट कार्ड से खरीदारी करने वाले हर चार में एक व्यक्ति अपने बैलेंस का समय पर भुगतान नहीं करता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You