ब्रिटेन में आठ लाख वर्ष पुराने मानव अवशेष मिले

  • ब्रिटेन में आठ लाख वर्ष पुराने मानव अवशेष मिले
You Are HereInternational
Sunday, February 09, 2014-3:43 PM

लंदन: ब्रिटेन में पुरातत्वविदों को प्राचीन थेम्स नदी के नजदीक आठ से दस लाख वर्ष पुराने मानव अवशेष मिले हैं, जिससे साबित होता है कि उत्तरी यूरोप में भी लाखों वर्ष पहले मानव सभ्यता का विकास हो गया था। पुरातत्वविदों का कहना है कि अफ्रीकी महाद्वीप में तो लाखों वर्ष पहले मानव सभ्यता थी, लेकिन उसके बाहर खासकर उत्तरी यूरोपीय क्षेत्र में उस काल में इंसान की मौजूदगी का यह पहला प्रमाण है।

ब्रिटिश म्यूजियम तथा लंदन विश्वविद्यालय के क्वीन मैरी कॉलेज तथा नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम विभाग के एक दल ने यह अवशेष देश के  पूर्वी क्षेत्र के हिप्पिसबर्ग में खोजे हैं। ब्रिटिश म्यूजियम के पुरातत्वविद निक अस्टम ने कहा है कि यह ब्रिटेन में प्राचीन मानव सभ्यता होने का पुख्ता सबूत हैं। उन्होंने कहा कि कीचड़ और बालू में सुरक्षित मिले यह अवशेष हमारी सबसे प्राचीन सभ्यता की विविध झलक प्रस्तुत करता है और इस दिशा में शोध के नए द्वार खोलता है। उन्होंने बताया कि जो अवशेष मिले हैं, उन्हें देखकर लगता है कि यह लोग समूह में थे और उनमें दो बच्चे तथा एक पुरुष था।

वैज्ञानिकों को लगता है कि जिन लोगों के अवशेष मिले हैं, वे सभी एक परिवार के सदस्य हो सकते हैं जो प्राचीन थेम्स नदी के तट कई पीढिय़ों से रहते थे। नदी के तटीय क्षेत्र में हरी भरी घास भी थी और गैंडे तथा दरयाई घोड़े आदि जानवरी भी थे। प्रोफेसर अस्टीन का कहना है कि यह खोज महत्वपूर्ण है। इसका मतलब यह हुआ कि आज का ब्रिटेन सात लाख साल पहले भी गरम था और यहां जीवन था।

इससे पहले यह क्षेत्र बहुत ठंडा था और वहां मानव जीवन की संभावना नहीं थी। यह समझिए कि उससे पहले यह इलाका आज के स्कोंडोनोविया की तरह रहा होगा। उनका कहना है कि उस समय यह क्षेत्र मानव सभ्यता की कगार पर पहुंच गया होगा, लेकिन इसमें महत्वपूर्ण यह है कि इन लोगों में भारी सर्दी सहन करने की क्षमता थी। शायद उस समय उनके आस-पास बड़े हाथी, गैंडे, घोड़े तथा दरयाई घोड़े जैसे कई जानवर भी रहें होंगे।

साउथम्पटन विश्वविद्यालय में पुरातत्व विभाग के प्रोफेसर क्लाइब गैम्बल ने कहा है कि यह महत्वपूर्ण खोज है। प्रोफेसर गैम्बल भले ही इस खोज दल के सदस्य नहीं थे, लेकिन वह इससे बहुत आश्चर्यचकित है। उन्होंने कहा कि यह खोज पुरातत्वविदों के लिए मील का पत्थर साबित होगी। उनका कहना है कि अति प्राचीन काल में मानव सभ्यता की खोज के मार्ग में यह महत्वपूर्ण कार्य हुआ है। शोधकर्ताओं को कहना है कि मानव सभ्यता के यह अवशेष उस प्रजाति के हो सकते हैं, जिनका आठ लाख साल पहले स्पेन से अस्तित्व समाप्त हो गया था।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You