Basant Panchami: अपने बच्चे को Super intelligent बनाने के लिए करें ये उपाय

Edited By Niyati Bhandari,Updated: 12 Feb, 2024 10:10 AM

basant panchami

वसंत पंचमी का त्यौहार इस साल 14 फरवरी को मनाया जाने वाला है और जैसे की आप लोग जानते हैं कि इस दिन देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। माता सरस्वती को विद्या की देवी कहा जाता है और बच्चों के लिए

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Basant Panchami 2024: वसंत पंचमी का त्यौहार इस साल 14 फरवरी को मनाया जाने वाला है और जैसे की आप लोग जानते हैं कि इस दिन देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। माता सरस्वती को विद्या की देवी कहा जाता है और बच्चों के लिए इसकी पूजा का विशेष महत्व है। माना जाता है कि जो बच्चे पढ़ाई में थोड़े कमजोर हैं यदि इस दिन वे माता की पूजा करें तो मां उन्हें विद्या का वरदान देती हैं। जिन बच्चों का पढ़ाई में बिल्कुल भी मन नहीं लगता या जिनके बार-बार प्रयास करने पर भी उनको सफलता नहीं मिलती, ऐसे छात्र अगर बसंत के दिन कुछ उपाय करें तो उनको पढ़ाई में सफलता मिल सकती है।

PunjabKesari Basant Panchami

What should we do on Basant Panchami: माघ के महीने में आने वाला बंसत पंचमी का त्यौहार ज्ञान, बुद्धि, विद्या, वाणी और संपूर्ण कलाओं की ज्ञाता माता सरस्वती का दिन है। लोकमत के अनुसार छोटे बच्चों से इस दिन कुछ लिखवाकर उनकी शिक्षा का आरंभ करते हैं ताकि बच्चा आगे पढ़ाई में सफलता प्राप्त करे और मां का उस पर आर्शीवाद बना रहे। इस दिन का उन लोगों के लिए भी विशेष महत्व होता है जो संगीत या कला के किसी क्षेत्र से जुड़े होते हैं।

Saraswati puja 2024: किवंदती है कि जो बच्चे पढ़ाई में थोड़े कमजोर होते हैं या जिनका मन पढ़ाई से हमेशा कतराता रहता है, उनके लिए वसंत पंचमी का दिन अच्छा है। पढ़ाई में कमजोर बच्चों को बसंत पर कुछ उपाय करने से उनका पढ़ाई में मन भी लगेगा और उनके द्वारा किए गए कार्य को सफलता भी मिलेगी।

PunjabKesari Basant Panchami

Basant Panchami 2024 Remedies: पहला उपाय है कि बच्चों का पढ़ाई का कमरा भी अगर वास्तु के अनुसार न हो तो भी उनका पढ़ाई में मन नहीं लगता। मेहनत करवाने के साथ-साथ इस बात का भी माता-पिता को ध्यान रखना चाहिए कि बच्चों का अध्ययन कक्ष सही दिशा में होना चाहिए। दूसरा स्टडी टेबल उत्तर दिशा में होना चाहिए, इससे पढ़ाई में ध्यान बना रहता है। तीसरा माता-पिता पुस्तकों के लिए जो अलमारी बनाएं ध्यान रखें कि वे हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में ही होनी चाहिए। बच्चों को मां सरस्वती के मूल मंत्र  'ॐ ऎं सरस्वत्यै ऎं नमः' का मंत्र सिखाएं और रोज उन्हें इसका जाप करने के लिए कहें।

Saraswati puja vidhi: बच्चों से बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करवाएं और पीले रंग का फूल अर्पित करवाएं। उसके बाद माता को पीले रंग की मिठाई या खीर का भोग भी जरूर लगाना चाहिए। साथ में माता को बसंत के दिन पीले वस्त्र भी भेंट करें और  केसर या पीले चंदन का टीका जरूर लगाएं। मां की पूजा करने के साथ-साथ ही बसंत के दिन पूजा में वाद्य यंत्र और किताबों को जरूर रखें, जिससे मां सरस्वती की कृपा का आपको आशीष मिले।

PunjabKesari Basant Panchami

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!