स्वर्ण मंदिर में तार वाले वाद्ययंत्रों के साथ गुरबाणी कीर्तन होगा: धामी

Edited By Niyati Bhandari, Updated: 26 May, 2022 08:36 AM

golden temple

श्री अकाल तख्त साहिब के आदेश अनुसार शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा श्री हरिमंदिर साहिब में पारंपरिक वाद्ययंत्रों के साथ गुरबाणी कीर्तन फिर से शुरू

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
अमृतसर (दीपक): श्री अकाल तख्त साहिब के आदेश अनुसार शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा श्री हरिमंदिर साहिब में पारंपरिक वाद्ययंत्रों के साथ गुरबाणी कीर्तन फिर से शुरू करने के लिए कदम उठाए हैं। 

PunjabKesari, Amritsar, Golden Temple, Sri Akal Takht Sahib

इसको लेकर शिरोमणि कमेटी के प्रधान हरजिन्द्र सिंह धामी ने धर्म प्रचार कमेटी द्वारा चलाए गए गुरमति संगीत विद्यालयों और मिशनरी कालेजों में कीर्तन की शिक्षा लेने वाले विद्यार्थियों को तार वाले वाद्ययंत्रों के साथ अभ्यास करने के लिए कहा है।

शिरोमणि कमेटी के उप सचिव मीडिया कुलविन्द्र सिंह रमदास ने बताया कि श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह द्वारा 3 मई को 5 सिंह साहिबानों की मीटिंग दौरान एक प्रस्ताव शिरोमणि कमेटी को भेजा गया है, जिसमें उन्होंने एस. जी. पी.सी. को हारमोनियम का इस्तेमाल धीरे-धीरे बंद करने और 3 साल के भीतर कीर्तन के लिए तार वाले प्राचीन पारंपरिक वाद्ययंत्रों का उपयोग करने के लिए कहा है।

PunjabKesari, ​​​​​​​Amritsar, Golden Temple, Sri Akal Takht Sahib

इसको लेकर शिरोमणि कमेटी के प्रधान हरजिन्द्र सिंह धामी ने रागी जत्थों को भी तंती साजों का अभ्यास करने की अपील की है। साथ ही नए रागी जत्थे तैयार करते समय गुरमति मिशनरी कालेजों और गुरमति संगीत विद्यालयों में तंती साजों के अध्यापकों का प्रबंध करने के लिए कहा गया है।

PunjabKesari, ​​​​​​​Amritsar, Golden Temple, Sri Akal Takht Sahib

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!