Numerology: आने वाले रोगों को पहले ही जान खुद को रखें Healthy

Edited By Niyati Bhandari, Updated: 22 Jun, 2022 08:23 AM

numerology know the coming diseases in advance keep yourself healthy

हमारे जीवन में अंकों का एक खास महत्व है और नाम, जन्म तिथि या राशि से जुड़े अंक, जीवन के हर उतार-चढ़ाव में अपनी भूमिका निभाते हैं। अंक ज्योतिष या न्यूमरोलॉजी को एक सटीक

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Numerology: हमारे जीवन में अंकों का एक खास महत्व है और नाम, जन्म तिथि या राशि से जुड़े अंक, जीवन के हर उतार-चढ़ाव में अपनी भूमिका निभाते हैं। अंक ज्योतिष या न्यूमरोलॉजी को एक सटीक गणना के लिए जाना जाता है, जिसका इतिहास हजारों साल पुराना है। न्यूमरोलॉजी के माध्यम से कई लोगों ने उम्मीद के मुताबिक परिणाम पाएं हैं, जिसमें करियर समेत जीवन के कई पहलुओं पर गणना शामिल है। प्रख्यात न्यूमरोलॉजिस्ट जे पी तोलानी जी बताते हैं कि अंक ज्योतिष हमें यह समझने में भी मदद करता है कि किसी व्यक्ति को उसके जीवन में क्या रोग हो सकते हैं। अंक ज्योतिष के 9 अंक, नौ ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते हैं, और प्रत्येक अंक व उनका मेल हमारे स्वास्थ्य को रिप्रेजेंट करता है।

PunjabKesari Numerology, Numerology health problems, Health Numerology jyotish tips, Numerology and Health, Numerology health numbers, Numerology health calculator, Which is the powerful number in numerology

How to Recognize Health Problems कैसे पहचानें स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं ?
अंक ज्योतिष हमें मूलांक के माध्यम से स्वास्थ्य संबंधी बिमारियों की चेतावनी दे सकता है और उससे बचने का उपाय सुझा सकता है। जैसे आपके नाम या जन्म नंबर्स में यदि किसी भी संख्या की अधिकता होती है तो शरीर के विशेष भागों से संबंधित समस्याएं होती हैं। उसी प्रकार मिसिंग नंबर्स, बर्थ और एनिमि नंबर या डेस्टिनी नंबर, राशि के लिए शत्रु संख्या होने के कारण राशि चिन्ह के अनुसार स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं दे सकती है। इनमें 4 व 7 को असंतुलित संख्या माना जाता है, जो कैंसर जैसी गंभीर बीमारियां पैदा कर सकते हैं। वहीं यदि जन्म अंक और भाग्य अंक अनुकूल नहीं हैं तो व्यक्ति अपनी राशि के अनुसार बीमार पड़ सकता है। इसके आलावा नाम में 2 एनिमी अल्फाबेट नंबर्स का होना या नेम नंबर्स का शत्रु नंबर होने के कारण भी स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।

How does numerology affect your life: पिछले कुछ सालों में लोग न्यूमरोलॉजी को लेकर बेहद जागरूक हुए हैं और देश में अंक ज्योतिष के जरिए घर डिजाइन से लेकर करियर को शेप देने तक लगभग हर क्षेत्र में न्यूमरोलॉजिस्ट की डिमांड बढ़ी है। इस क्षेत्र को 20 वर्षों से अधिक समय का योगदान देने वाले जे पी तोलानी जी के मुताबिक आपकी न्यूमेरिक राशि के हिसाब से शरीर के विशेष अंगों में रोगों की गणना की जा सकती है।

मेष: सिर, चेहरा और आंखें
वृष: गर्दन, कान, गला और टॉन्सिल
मिथुन: हाथ, कंधे, मांसपेशियां, हड्डियां, फेफड़े (श्वासनली और वायुनलियां समेत)
कर्क: पेट, स्तन, नसें, डायाफ्राम, लीवर का ऊपरी भाग
सिंह: हृदय, रीढ़ और रीढ़ की हड्डी के हिस्से
कन्या: आंत, आहारनाल और लीवर का निचला भाग
तुला: गुर्दे, कमर, अपेंडिक्स और आमतौर पर त्वचा
वृश्चिक: रिप्रोडक्शन के अंग, ब्लॉडर और गॉल
धनु : कूल्हे, जांघ और साइटिक नसें
मकर : घुटने, शरीर के जोड़ और बाल
कुंभ: निचला पैर (कल्वेस और ऐंकल्स), दांत और रक्त का संचार
मीन: पैर और पैर की उंगलियां

PunjabKesari Numerology, Numerology health problems, Health Numerology jyotish tips, Numerology and Health, Numerology health numbers, Numerology health calculator, Which is the powerful number in numerology

Can Astrology predict health problems: अंक ज्योतिष में राशि के माध्यम से रोगों का पता लगाना भी आसान होता है और स्वास्थ्य को लेकर अक्सर ही अंक ज्योतिष से सही गणना प्राप्त होती है।

मेष: सिरदर्द, बुखार, नसों में दर्द, आंखों में परेशानी, सूजन, घाव और दुर्घटनाएं
वृष: रोग जो विशेष रूप से गले पर हमला करते हैं
मिथुन: ब्रोन्कियल शिकायतें, तंत्रिका रोग, निमोनिया, अस्थमा और एनीमिया
कर्क: पाचन क्रिया में समस्या
सिंह: हृदय रोग, रक्त संचार खराब होना और इसी तरह की परेशानी
कन्या: पाचन संबंधी परेशानियां और शिकायतें आम तौर पर आंतों से संबंधित
तुला: गुर्दा रोग और रीढ़ की हड्डी में दर्द
वृश्चिक: शरीर के निचले भागों में दर्द व अन्य समस्या
धनु: गठिया, साइटिका, दुर्घटना
मकर: राशि के अंगों को प्रभावित करने वाली त्वचा संबंधी शिकायतें और रोग
कुंभ: टखनों की दुर्घटनाएं और शरीर के उस हिस्से को प्रभावित करने वाली शिकायतें, वैरिकाज़ नसों, ब्लड पॉइज़निंग और कुछ तंत्रिका संबंधी रोग
मीन राशि: इन्फ्लुएंजा, सर्दी, श्लेष्म निर्वहन के साथ रोग और इसी तरह की शिकायतें।

PunjabKesari ​​​​​​​Numerology, Numerology health problems, Health Numerology jyotish tips, Numerology and Health, Numerology health numbers, Numerology health calculator, Which is the powerful number in numerology

Which numerology number is good for health: जैसा हमें पता है कि न्यूमरोलॉजी में 9 नंबर अलग-अलग प्लेनेट रिप्रेसेंट करते हैं और उसी प्रकार से हमारे स्वास्थ्य पर असर डालते हैं।

नंबर 1 - सूर्य (ए, आई, जे, क्यू, वाई)
सूर्य हड्डियों, हृदय, पेट और दाहिनी आंख का प्रतिनिधित्व करता है। स्वास्थ्य और जीवन शक्ति के सामान्य अर्थ के कारण सूर्य को होने वाली बीमारियां कई बीमारियों का कारण बन सकती हैं लेकिन अधिक विशिष्ट बीमारियां हृदय, आंख, हड्डी रोग और रीढ़ की हड्डी से संबंधित होती हैं।

नंबर 2 - चंद्रमा (बी, के, आर)
चंद्रमा रक्त ऊतक, लसीका, स्तन, गर्भाशय, अंडाशय, और बाईं आंख पर शासन करता है। यह शरीर में तरल पदार्थों का वाहक है और इनके साथ किसी भी कठिनाई का संकेत चंद्रमा की गड़बड़ी से होता है। चंद्रमा के पीड़ित होने का परिणाम मानसिक और भावनात्मक समस्याएं पैदा करता है।

नंबर 3 - बृहस्पति (सी, जी, एल, एस)
बृहस्पति वसा ऊतक, पेट, यकृत, पित्ताशय की थैली, अग्न्याशय और कानों के लिए जिम्मेदार होता है।

नंबर 4 - राहु (डी, एम, टी)
इसकी तुलना कई मायनों में शनि (विषाक्त वायु) से की जाती है, दोनों ही वायु तत्व का प्रतिनिधित्व करते हैं। यह शरीर में पुरानी बीमारियों के लिए भी जिम्मेदार है।

नंबर 5 - बुध (ई, एच, एन, एक्स)
बुध प्लाज्मा, कूल्हों, त्वचा, माथे, गले, मुंह और जीभ पर शासन करता है। बुध की कोई भी परेशानी इन क्षेत्रों के संबंध में समस्याएं लाती हैं।

नंबर 6 - शुक्र (यू, वी, डब्ल्यू)
शुक्र प्रजनन द्रव, चेहरे और आंखों, गुर्दे, अंतःस्रावी और मूत्र प्रणाली आदि को प्रभावित करता है।

नंबर 7 - केतु (ओ, जेड)
इसे मंगल के समान ही जहरीली गर्मी का प्रतिनिधित्व करने के रूप में देखा जाता है। हालांकि, ग्रहण के छिपे हुए पहलू के कारण, परिणामों की भविष्यवाणी करना कठिन हो सकता है। दक्षिण नोड उन बीमारियों का कारण बनता है जिनका इलाज करना मुश्किल होता है। वे आमतौर पर 'मंगल-प्रकार' की बीमारियों की तुलना में प्रकृति में अधिक तीव्र होते हैं। दक्षिण नोड पैरों, बालों और एक्स्ट्रासेंसरी कार्यों का प्रतिनिधित्व करता है।

नंबर 8 - शनि (एफ, पी)
शनि मांसपेशियों के ऊतकों, जांघों, बृहदान्त्र, मलाशय, घुटनों, पैरों और जोड़ों का प्रतिनिधित्व करता है। इसे जहरीली हवा के रूप में भी देखा जाता है और अधिकांश बीमारियों का कारण बनती है।

नंबर 9 - मंगल
मंगल तंत्रिका ऊतक पर शासन करता है, जिसकी उत्पत्ति अस्थि मज्जा में होती है। यह रक्त, यकृत, प्लीहा, पित्ताशय, पित्त, गर्भाशय, सिर और भौहों में हीमोग्लोबिन को नियंत्रित करता है।

PunjabKesari ​​​​​​​Numerology, Numerology health problems, Health Numerology jyotish tips, Numerology and Health, Numerology health numbers, Numerology health calculator, Which is the powerful number in numerology
 

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!