वायुसेना ने जारी की अग्निपथ भर्ती योजना की डिटेल, 1 करोड़ का बीमा और 30 दिन की छुट्टी...जानिए क्या-क्या सुविधा

Edited By Seema Sharma,Updated: 19 Jun, 2022 10:53 AM

air force has released the details of agneepath recruitment scheme

अग्निपथ भर्ती योजना में अग्निवीरों की भर्ती के लिए भारतीय वायुसेना ने पूरी डिटेल अपनी वेबसाइट पर जारी कर दी है। इस डिटेल में बताया गया है कि अग्निवीरों को वायुसेना की ओर से कई सुविधाएं दी जाएंगी।

नेशनल डेस्क: अग्निपथ भर्ती योजना में अग्निवीरों की भर्ती के लिए भारतीय वायुसेना ने पूरी डिटेल अपनी वेबसाइट पर जारी कर दी है। इस डिटेल में बताया गया है कि अग्निवीरों को वायुसेना की ओर से कई सुविधाएं दी जाएंगी। एयरफोर्स की वेबसाइट पर अपलोड जानकारी के अनुसार अग्निवीरों को सैलरी के साथ हार्डशिप एलाउंस, यूनीफार्म एलाउंस, कैंटीन सुविधा और मेडिकल सुविधा भी मिलेगी। ये सारी सुविधाएं एक रेगुलर सैनिक को मिलती हैं।

 

ये भी घोषणाएं
अग्निवीरों को सेवा काल के दौरान ट्रैवल एलाउंस भी मिलेगा। इसके अलावा उन्हें साल में 30 दिन की छुट्टी भी मिलेगी। उनके लिए मेडिकल लीव की व्यवस्था अलग है। अग्निवीरों को CSD कैंटीन की भी सुविधा मिलेगी। 

 

मृत्यु या विकलांग होने पर
दुर्भाग्यवश अगर किसी अग्निवीर की सर्विस (चार साल) के दौरान मृत्यु होती है तो उसके परिवार को इन्श्योरेंस कवर मिलेगा। अग्निवीर की मृत्यु पर परिवार को करीब 1 करोड़ रुपए मिलेंगे। अगर चार साल की ड्यूटी के दौरान जवान की मौत हो जाती है तो अग्निवीरों को 4 साल की सेवा अवधि के दौरान 48 लाख रुपए का बीमा कवर मिलेगा। इसके अलावा उन्हें 44 लाख रुपए की एकमुश्त राशि भी दी जाएगी। इसके अलावा चार साल की नौकरी में जितनी सेवा बची रहेगी उसकी सैलरी भी अग्निवीर के परिवार को दी जाएगी। इसके अतिरिक्त अग्निवीर के सेवानिधि फंड में जितने पैसे जमा हुए होंगे उसमें सरकार का योगदान और उसपर ब्याज भी अग्निवीर के परिवार को दिया जाएगा। ड्यूटी के दौरान विकलांग होने पर अग्निवीरों को एक्स-ग्रेशिया 44 लाख रुपए मिलेंगे। साथ ही जितनी नौकरी बची है उसकी पूरी सैलरा मिलेगी इसके अलावा सेवा निधि का पैकेज भी मिलेगा। हालांकि विकलांगता की सीमा के अनुसार अग्निवीरों को मिलने वाली राशि कम या ज्यादा हो सकती है।

 

अग्निवीरों का एक अलग रैंक
वायुसेना ने कहा कि अग्निवीरों की भर्ती एयर फोर्स एक्ट 1950 के तहत 4 साल के लिए होगी। वायुसेना में अग्निवीरों का एक अलग रैंक होगा जो मौजूदा रैंक से अलग होगा। अग्निवीरों को अग्निपथ स्कीम की सभी शर्तों को मानना होगा। जिन अग्निवीरों की वायुसेना में नियुक्ति के समय उम्र 18 साल से कम होगी उन्हें अपने माता-पिता या अभिभावक से अपने नियुक्ति पत्र पर हस्ताक्षर करवाना होगा। चार साल की सेवा के बाद 25 फीसदी अग्निवीरों को रेगुलर कैडर में लिया जाएगा। इन 25 फीसदी अग्निवीरों की नियुक्ति सेवा काल में उनके सर्विस के परफॉर्मेंस के आधार पर की जाएगी।

 

अवॉर्ड के हकदार भी
वायुसेना के मुताबिक अग्निवीर सम्मान और अवॉर्ड के हकदार होंगे। अग्निवीरों को वायुसेना की गाइडलाइंस के अनुसार ऑनर्स और अवॉडर्स भी दिए जाएं। वायुसेना में भर्ती होने के बाद अग्निवीरों को सेना की जरूरतों के अनुसार ट्रेनिंग दी जाएगी। सेवा मुक्त होने पर एक विस्तृत स्किल सर्टिफिकेट अग्निवीरों को दिया जाएगा। इस प्रमाण पत्र में अग्निवीरों का कौशल और उनकी योग्यता का वर्णन होगा। भले ही अग्निवीरों की नौकरी चार साल की हो लेकिन उनको सभी सुविधाएं रेगुलर जवानों की तरह ही मिलेंगी।
 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!