PM मोदी की अगवानी न कर यशवंत के बहाने ‘शक्ति प्रदर्शन' करेंगे मुख्यमंत्री राव, BJP ने किया पलटवार

Edited By rajesh kumar,Updated: 02 Jul, 2022 04:30 PM

cm rao perform  strength show  on pretext yashwant not receiving pm modi

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक से ठीक पहले राज्य में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) और केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा के बीच नवाबों के इस शहर में प्रचार युद्ध चरम पर है।

नेशनल डेस्क: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक से ठीक पहले राज्य में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) और केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा के बीच नवाबों के इस शहर में प्रचार युद्ध चरम पर है। भाजपा की बैठक के बीच राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा यहां पहुंच रहे हैं और टीआरएस ने उनके स्वागत की भव्य तैयारियां की हैं। भाजपा की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार पूर्वाह्न राजधानी पहुंचने वाले हैं, लेकिन तेंलगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव उनकी अगवानी करने नहीं जाएंगे।

हालांकि, वह राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा का स्वागत करने खुद हवाईअड्डे जाने वाले हैं और उनकी पार्टी ने इसकी भव्य तैयारियां भी की हैं। इतना ही नहीं, कार्य समिति की बैठक के मद्देनजर भाजपा ने पूरे शहर को झंडे, पोस्टर व बैनर से पाट दिया है तो टीआरएस ने भी आक्रामक रुख अपनाते हुए शहर भर में प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा को निशाना बनाने वाले पोस्टर व बैनर लगाए हैं। कई पोस्टर में ‘‘बाय, बाय मोदी'', ‘‘अब बस करो'' और ‘‘बहुत हो गया मोदी'' लिखकर सीधे प्रधानमंत्री को निशाना बनाया गया है।
PunjabKesari
टीआरएस और मुख्यमंत्री राव का यह व्यवहार भाजपा नेताओं को नागवार गुजर रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री राव और उनकी पार्टी के इस कदम की कड़ी आलोचना की है। भाजपा नेताओं ने पलटवार करते हुए कहा है कि इस तरह के हथकंडे अपनाकर और शक्ति प्रदर्शन करके राव और टीआरएस न ही प्रधानमंत्री मोदी का कद छोटा कर पाएंगे, न ही उन्हें लोगों के दिलों से दूर कर सकेंगे। वहीं, टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष और प्रदेश सरकार में मंत्री के टी रामा राव ने भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसते हुए ट्वीट किया और कहा कि केंद्र की सत्ताधारी पार्टी को राज्य की टीआरएस सरकार द्वारा लागू की गई नीतियों से सीखना चाहिए। कार्य समिति में आने वाले भाजपा नेताओं का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘सुंदर शहर हैदराबाद में सभी जुमलाजीवियों का स्वागत है। यहां की दम बिरयानी और ईरानी चाय का आनंद लेना न भूलें।''

इस ट्वीट के साथ उन्होंने हैशटेग ‘‘तेलंगाना द पावरहाउस'' का इस्तेमाल किया और भाजपा नेताओं से कहा कि कृपया राज्य का दौरा करें, उसे याद रखें और फिर यहां लागू नीतियों को अपने क्षेत्र में क्रियान्वित करें। कभी मुख्यमंत्री राव के बेहद करीबी और उनकी सरकार में मंत्री रहे इटेला राजेंद्र ने कहा कि राव का यह पुराना हथंकडा रहा है कि जब भी कोई दल उनके खिलाफ खड़ा हाता है तो वह उसका और उसके शीर्ष नेताओं का अपमान करने का कोई भी मौका नहीं चूकते। राजेंद्र अब भाजपा में हैं। उन्होंने ‘पीटीआई-भाषा' से बातचीत में कहा, ‘‘यह कोई पहला मौका नहीं है, जब प्रधानमंत्री राज्य के दौरे पर आ रहे हैं और मुख्यमंत्री उनका स्वागत करने नहीं जा रहे हैं। इससे पहले भी दो मौकों पर ऐसा हो चुका है। ऐसा करके वह अपने आपको छोटा कर रहे हैं।'' राजेंद्र ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री राव को पहले ही से ही पता था कि यहां दो और तीन जुलाई को भाजपा की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक होने वाली है तथा इसमें प्रधानमंत्री मोदी आने वाले हैं, लेकिन उन्होंने जान-बूझकर राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को हैदराबाद बुलाया और उनका कार्यक्रम तय किया।
PunjabKesari
राजेंद्र ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री के लिए प्रोटोकॉल और प्रधानमंत्री पद की गरिमा के कोई मायने नहीं हैं। उनके लिए बस उनका परिवार अहमियत रखता है और इसी के चलते वह इस तरह के कदम उठा रहे हैं।'' प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के खिलाफ शहर में लगाए गए पोस्टर पर प्रतिक्रिया देते हुए राजेंद्र ने कहा, ‘‘टीआरएस अब ‘पोस्टर वॉर' में जुट गई है, ताकि भाजपा की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक को असफल करार दिया जा सके। इसके लिए पार्टी ने करोड़ों रुपये खर्च कर दिए।” उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री पहले भी ऐसा करते रहे हैं, लेकिन उन्हें पता नहीं है कि भाजपा और मोदी जनता के दिलों में राज करते हैं। पोस्टर तो हटा सकते हैं, लेकिन वह भाजपा और मोदीजी को जनता के दिलों से कैसे निकालेंगे। उनकी उल्टी गिनती शुरू हो गई है। अगले विधानसभा चुनाव में जनता उन्हें सबक सिखाकर रहेगी।''

भाजपा नेता खुश्बू सुंदर ने भी मुख्यमंत्री राव पर करारा हमला किया। संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि इस तरह की उनकी ‘‘हरकत'' दर्शाती है कि वह कितने हताश और निराश हो गए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘राव प्रदेश में भाजपा और मोदी की बढ़ती लोकप्रियता से घबरा गए हैं और इसलिए वह इस तरह के कदम उठा रहे हैं। राव प्रधानमंत्री को छोटा दिखाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वह इसमें सफल नहीं होंगे। प्रदेश की जनता उन्हें इसका करारा जवाब देगी। रही बात यशवंत सिन्हा के स्वागत की तो ऐसे शक्ति प्रदर्शन से वह जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं।'' उल्लेखनीय है कि टीआरएस ने यशवंत सिन्हा के भव्य स्वागत की तैयारी की है। खुद मुख्यमंत्री राव और उनका पूरा दल-बल यशवंत सिन्हा का स्वागत करने के लिए बेगमपेट हवाईअड्डे पर मौजूद रहेगा। टीआरएस की ओर से एक विशाल बाइक रैली का भी आयोजन किया गया है। भाजपा ने भी प्रधानमंत्री मोदी के स्वागत की भव्य तैयारी की है। पूरा शहर उनके पोस्टर व बैनर से पटा पड़ा है।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!