चारधाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए जरूरी खबर, स्वास्थ्य विभाग ने जारी की नई एडवाइजरी

Edited By Seema Sharma,Updated: 12 May, 2022 08:50 AM

important news for the pilgrims going on chardham yatra

उच्च गढ़वाल हिमालयी क्षेत्र में स्थित चारधामों की यात्रा पर आने वाले, खासतौर से बुजुर्ग श्रद्धालुओं के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित उत्तराखंड सरकार ने बुधवार को स्वास्थ्य संबंधी दिशानिर्देश जारी किए।

नेशनल डेस्क: उच्च गढ़वाल हिमालयी क्षेत्र में स्थित चारधामों की यात्रा पर आने वाले, खासतौर से बुजुर्ग श्रद्धालुओं के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित उत्तराखंड सरकार ने बुधवार को स्वास्थ्य संबंधी दिशानिर्देश जारी किए। साथ ही मंदिरों में उमड़ रही भारी भीड़ के मददेनजर प्रत्येक धाम में प्रतिदिन दर्शन के लिए निर्धारित अधिकतम श्रद्धालुओं की संख्या में एक हजार की बढ़ोतरी की। 3 मई को अक्षय तृतीया के पर्व से शुरू हुई चारधाम यात्रा में 10 मई तक दिल का दौरा पड़ने से 18 श्रद्धालुओं की मौत होने तथा कई अन्य का स्वास्थ्य बिगड़ने की खबर है। माना जा रहा है कि इसे गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने यह परामर्श जारी किया है।

 

दिशानिर्देशों में कहा गया है कि 2700 मीटर से अधिक ऊंचाई पर स्थित सभी चारों धामों- बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में तीर्थयात्री अत्यधिक ठंड, कम आर्द्रता, अत्यधिक पराबैंगनी विकिरण, कम हवा का दबाव और ऑक्सीजन की कम मात्रा से प्रभावित हो सकते हैं, इसलिए वे स्वास्थ्य परीक्षण के बाद ही यात्रा आरंभ करें। दिशानिर्देशों के अनुसार, सिर दर्द होना, चक्कर आना, घबराहट होना, दिल की धड़कन तेज होना, उल्टी आना, सांस फूलना, खांसी होना अथवा अन्य लक्षण होने पर तत्काल निकटतम स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचने तथा हेल्पलाइन नंबर 104 पर संपर्क करने को कहा गया है।

 

अति वृद्ध, बीमार एवं पूर्व में कोविड से ग्रस्त व्यक्तियों के लिए यात्रा पर न जाने या कुछ समय के लिए उसे स्थगित करने की सलाह दी गई है। उधर, चारों धामों में श्रद्धालुओं की भारी संख्या को देखते हुए प्रत्येक मंदिर में प्रतिदिन दर्शन के लिए जाने वाले अधिकतम श्रद्धालुओं की संख्या में एक हजार की बढ़ोतरी कर दी गई है। फिलहाल यह व्यवस्था यात्रा सीजन के शुरुआती 45 दिनों के लिए की गई है। अधिकारियों ने यहां बताया कि सरकार ने इस संबंध में अपने पिछले आदेश में संशोधन करते हुए बदरीनाथ में दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या प्रतिदिन 16000, केदारनाथ के लिए 13000, गंगोत्री के लिए 8000 और यमुनोत्री के लिए 5000 तय कर दी है।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!