2017 का सबसे बड़ा राशि परिवर्तन: शनि इन 3 राशियों पर डालेंगे खास प्रभाव

  • 2017 का सबसे बड़ा राशि परिवर्तन: शनि इन 3 राशियों पर डालेंगे खास प्रभाव
You Are HereDharm
Tuesday, June 13, 2017-2:50 PM

2017 का सबसे बड़ा राशि परिवर्तन 21 जून दिन बुधवार को सुबह 04 बजकर 28 मिनट पर होगा। वक्री शनि वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा। राशि में प्रवेश करते ही कई राशियों पर शनि की कुदृष्टि रहेगी। विशेषतौर पर 26 अक्तूबर तक का समय मेष, वृश्चिक एंव सिंह राशि वाले जातकों के लिए अधिक कष्टदायक है। अन्य राशियों पर अलग-अलग असर पड़ेगा। जानें, आपकी राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव


मेष- 21 जून से शनि की ढैया रहेगी। राशि में अष्टम आने से शारीरिक कष्ट आदि लगने के योग बनते हैं।   
 
वृष- 21 जून सुबह 4 बजकर 28 मिनट से राहत की सांस मिलेगी। शनि की ढैया उतर जाएगी । शारीरिक कष्ट कम होगा स्वास्थ्य में सुधार के योग हैं। जिन जातकों के तलाक के केस काफी समय से लटके हुए हैं, उनके तलाक होने के योग हैं। पार्टनरशिप एवं प्रेम संबंधों में कड़वाहट आ सकती है। कुल मिलाकर शनि का राशि परिर्वतन वृष राशि वाले जातकों के लिए मिला-जुला रहेगा।

 
मिथुन- छठे भाव में शनि आ जाएगा जिससे इन राशि वाले जातकों की शत्रु से नोक-झोंक एवं पेट, किडनी, बवासीर की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है । इस राशि से मंगल शनि का छठाष्टक योग बन रहा है। जो सेहत के लिए ठीक नहीं है।   
 
कर्क- वक्री शनि पंचम भाव में भ्रमण करेगा । इन्हें पेट की तकलीफ दे सकता है । जो छात्र या छात्राएं किसी टेस्ट कि तैयारी कर रहे हैं, उन्हें पढ़ाई में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है । जिन युवक-युवतियों के प्रेम-प्रसंग या शादी की बात चल रही है वे बीच में टूट सकती है।  
 
सिंह- शनि चतुर्थ भाव में भ्रमण करेगा। वाहन ध्यान से चलाएं। नया वाहन या प्रॉपर्टी लेने की सोच रहे हैं तो अभी न खरीदें । वैवाहिक जीवन ठीक नहीं रहेगा। आपकी राशि में पाशिवक योग बना हुआ है । जिसके कारण सेहत ठीक नहीं रहेगी। आपको या आपकी माता को हार्ट से संबंधित बीमारी का सामना करना पड़ सकता है। 
 
कन्या-
शनि की ढैया हट जाएगी। पराक्रम शौर्य में वृद्धि होगी। जिन जातको के विदेश जाने से संबंधित कार्य अटके पड़े थे, उनके विदेश जाने के योग बन जाएंगे। भाई-बहनों से मनमुटाव हो सकता है। 
 
तुला- साढ़ेसाती फिर से आ रही है। मानिसक स्थिति तनावपूर्ण होने से परिवार में मनमुटाव या विवाद रह सकता है। घर-प्रोपर्टी लेने के लिए समय अच्छा है।  
 
वृश्चिक- सुबह शनि जैसे ही प्रवेश करेगा साढेसती इनकी छाती पर फिर से आ जाएगी।  सेहत का विशेष ध्यान रखें, आपकी राशि का स्वामी मंगल आपकी राशि से अष्टम भाव में भम्रण कर रहा है। इस राशि वाले जातको को मृत्यु तुल्य कष्ट आ सकता है। 
  
धनु- 21 जून को 12वें भाव में शनि सुबह ही आ जाएगा । इसके फलस्वरूप आपका कोई पुराना कोर्ट केस रिओपन हो सकता है। इस अवधि में गलतफहमीयों के कारण आपका वैवाहिक जीवन छीन-भिन्न हो सकता है। आपके दुश्मन आपके खिलाफ षंडयत्र रच सकते हैं। ये समय आपके लिए बड़ा खतरनाक है कृप्या सावधान रहें। 
 
मकर- जो विदेश जाने का विचार कर रहे थे, उनके लिए 21 जून के बाद विदेश जाने के योग बन रहे हैं। किसी नए कार्य में धन लाभ होने के अच्छे योग हैं। बड़े भाई के साथ टकराव के योग बनते हैं जरा संभल कर रहें। 
 
कुंभ- शनि का वृश्चिक राशि में प्रवेश अच्छा फल देने वाला नहीं है। 21 जून से अगर आप कहीं नौकरी करते हैं तो वहां से स्थानांतरण एवं डिमोशन के योग बन रहे हैं । अपना काम ध्यान से करें। अगर आप शादीशुदा हैं और आपका किसी से लव अफेयर चल रहा है जिसके कारण वैवाहिक संबंध टूट सकता है। 
  
मीन- 21 जून से पिता की सेहत का ध्यान रखें। आपका धार्मिक कार्यों में मन कम लगेगा। आपके बनते कार्यों में अड़चने आएंगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You