Subscribe Now!

दावोस सम्मेलनः गोयल के एजेंडे में परिवहन और ऊर्जा समाधान ऊपर

  • दावोस सम्मेलनः गोयल के एजेंडे में परिवहन और ऊर्जा समाधान ऊपर
You Are HereNational
Sunday, January 21, 2018-9:35 PM

नई दिल्लीः रेल मंत्री पीयूष गोयल के विश्व आॢथक मंच की दावोस में होने वाली बैठक के दौरान परिवहन एवं ऊर्जा समाधान एजेंडे में सबसे ऊपर होगा। वह इस दौरान फिलिप्स, फाक्सवैगन और सिमेन्स जैसी बहुराष्ट्रीय कंपनियों के प्रमुखों से मिलेंगे। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं अन्य केंद्रीय मंत्रियों के साथ बैठक में भाग लेने जा रहे हैं।

इससे जुड़े अधिकारियों ने कहा कि परिवहन एवं ऊर्जा समाधान तलाशना गोयल के एजेंडे में ऊपर है। अधिकारियों का कहना है कि बहुराष्ट्रीय कंपनियों में रेलवे से जुड़ी परियोजनाएं हासिल करने को लेकर प्रतिस्पर्धा बढ़ रही है। ऐसे में गोयल की संबंधित कंपनियों के प्रमुखों से मुलाकात से रेलवे में निवेश को गति मिलेगी।  बैठक के दौरान वह एक परिचर्चा में भाग लेंगे। इस कार्यक्रम में वह संयुक्त राष्ट्र महासचिव की विशेष प्रतिनिधि (सभी के लिये सतत ऊर्जा ) रिचेल काइट के साथ मंच साझा करेंगे।

पूर्व में बिजली एवं नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल चुके गोयल ने 2025 तक रेलवे की कुल ऊर्जा जरूरतों में 25 प्रतिशत अक्षय ऊर्जा स्रोतों से प्राप्त करने का लक्ष्य रखा है। परिचर्चा के दौरान वह भारत की जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने के वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों के उपयोग की व्यापक योजना के बारे में अपनी बातें रखेंगे।

वह ऊर्जा, डिजिटल, वाहन तथा बुनियादी उद्योग पर भी चर्चा कर सकते हैं।  अधिकारियों के अनुसार रेल मंत्री एक कार्यशाला में भी भाग लेंगे जहां वह निजी क्षेत्र के वाहन उद्योग दिग्गजों के साथ-साथ नीति निर्माताओं तथा विशेषज्ञों के साथ वाहन संबंधी चुनौतियों के समाधान पर चर्चा करेंगे।

गोयल फिलिप्स, फाक्सवैगन, एचपी और सिमेन्स जैसी बहुराष्ट्रीय कंपनियों के प्रमुखों से मिलेंगे। इसके अलावा वह जापान बैंक फार इंटरनेशनल कारपोरेशन (जेबीआईसी) के मुख्य कार्यपालक तादाशी मेदा के साथ भी द्विपक्षीय बैठक कर सकते हैं।  

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You