हिंदी दिवसः योग को 177 देशों का मिला समर्थन, हिंदी के लिए 129 देश भी नहीं जुटा सके

  • हिंदी दिवसः योग को 177 देशों का मिला समर्थन, हिंदी के लिए 129 देश भी नहीं जुटा सके
You Are HereNational
Wednesday, September 13, 2017-11:08 PM

नई दिल्लीः संविधान सभा ने भले ही 14 सितंबर, 1949 को एक मतेन यह निर्णय लिया कि हिन्दी राजभाषा होगी लेकिन कड़वा सच यह कि यह कामकाज की भाषा आज तक न बन सकी। हिन्दी को आज तक संयुक्त राष्ट्र संघ की भाषा नहीं बनाया जा सका है। इसे विडंबना ही कहेंगे कि योग को 177 देशों का समर्थन मिला लेकिन हिन्दी के लिए 129 देशों का समर्थन क्या नहीं जुटाया जा सकता? शायद इसकी एक ये भी है कि अंग्रेजी बोलने में हमें गर्व होता है। हिन्दी बोलने में हीनता और जब तक इस भाव को हम पूरी तरह से नहीं निकाल देंगे, हिन्दी को सम्मान और सर्वमान्य भाषा के रूप में कैसे देख पाएंगे? आज हिंदी दिवस है। इसे हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। इसके अलावा 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस भी मनाया जाता है। आइए हम आपको बताते हैं हिंदी से जुड़ी कुछ रोचत और खास बातें। 

- भारत में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा हिंदी है। हमारे देश के 77% लोग हिंदी लिखते, पढ़ते, बोलते और समझते हैं। 

- हिंदी की खास बात यह है कि इसमें जिस शब्‍द को जिस प्रकार से उच्‍चारित किया जाता है, उसे लिपि में लिखा भी उसी प्रकार जाता है।

- हिंदी शब्‍द मूल रूप से फारसी से उत्‍पन्‍न हुआ है। यह सिंधी सभ्‍यता से आए शब्‍द सिंध का अपभ्रंश है जो कालांतर में हिंद हो गया।

- हिंदी का नमस्‍ते शब्‍द ऐसा शब्‍द माना जाता है जिसे सर्वाधिक बार बोला जाता है। एक अनुमान के अनुसार हर पांच में से एक व्‍यक्ति हिंदी में इंटरनेट का उपयोग करता है। 

- जापान, मिस्र, अरब व रूस में हिन्दी को लेकर कुछ ज्यादा ही सक्रियता दिख रही है, जो बहुत ही सम्मान की बात है। मगर भारत में ऐसा क्यों नहीं? शायद इसका जवाब बहुत ही कठिन होगा। 

- पूरे विश्व में बोली जाने वाली भाषाओं में हिंदी का चौथा स्थान है। हिंदी भाषा पर अंग्रेजी के शब्दों का भी बहुत अधिक प्रभाव हुआ है और कई शब्द प्रचलन से हट गए और अंग्रेजी के शब्द ने उनकी जगह ले ली है।

- 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राजभाषा होगी। इसी महत्वपूर्ण निर्णय के चलते सन् 1953 से संपूर्ण भारत में 14 सितंबर को प्रतिवर्ष हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

- क्या आपको पता है अंग्रेजी से ज्यादा पूरी दुनिया में हिंदी बोली जाती है। चीनी भाषा के बाद हिंदी भाषा का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है। 20 देशों में हिंदी भाषा का इस्तेमाल किया जाता है। करीब 50 करोड़ लोग हिंदी का इस्तेमाल करते हैं।

- राजभाषा सप्ताह या हिंदी सप्ताह 14 सितंबर को हिंदी दिवस से एक सप्ताह के लिए मनाया जाता है। इस पूरे सप्ताह अलग-अलग प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। हिंदी पखवाड़ा 14 सितंबर से शुरू होकर 30 सितंबर तक चलता है।

- विश्‍व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत महाराष्‍ट्र के नागपुर से 1975 में हुई थी। वर्ष 2006 में इसे आधिकारिक दर्जा और वैश्विक पहचान मिली।


- अंग्रेजी भाषा हिंदी पर हावी है लेकिन रोचक बात यह है कि अंग्रेजी की रोमन लिपि में शामिल कुछ वर्णों की संख्‍या 26 है, जबकि हिंदी की देवनागरी लिपि के वर्णों की संख्‍या ठीक इससे दोगुनी यानी 52 है। 

- अमीर खुसरो पहले व्‍यक्ति थे जिन्‍होंने हिंदी में कविता लिखी थी। हिंदी भाषा के इतिहास पर आधारित काव्‍य रचना सर्वप्रथम एक फ्रांस के लेखक ने की थी। इस रचना का नाम‍ था 'ग्रासिन द तैसी'। अमेरिका की 45 यूनिवर्सिटी सहित समूचे विश्‍व के करीब 175 विश्‍वविद्यालय ऐसे हैं जहां पर हिंदी में पढ़ाई की जाती है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You