मौत के मुंह से निकली लड़की ने बताया ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ का असली सच

  • मौत के मुंह से निकली लड़की ने बताया ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ का असली सच
You Are HereNational
Thursday, September 07, 2017-2:33 PM

जोधपुर: ब्लू व्हेल चैलेंज के कारण राजस्थान के जोधपुर में 17 साल की एक लड़की ने दो बार अपनी जान लेने की कोशिश की। इस लड़की ने कुछ ही दिन पहले ब्लू व्हेल चैलेंज के तहत कैलाना झील में कूदकर आत्महत्या की कोशिश की थी लेकिन उसे बचा लिया गया था। दसवीं कक्षा की इस छात्रा ने अपने अभिभावकों को बताया कि वह अपनी सहेली से मिलने जा रही है।

लड़की ने बताई आपबीती
लड़की ने बताया कि उसे गेम डाउनलोड करने में दो घंटे लगे। जिसके बाद पूरी रात मैं गेम खेलती रही। वहां उसे चार विकल्प दिए गए थे। हाथ पर ब्लेड से शार्क का निशान बनाना, छत से कूदना, समुद्र या नदी में छलांग लगाना और घर से भाग जाना। उन्होंने यह भी कहा कि अगर तीन दिन में ये टास्क पूरे नहीं किए गए तो उसके साथ कुछ न कुछ बहुत बुरा होगा। जिसके बाद लड़की को लगा कि उसके परिवार के साथ कुछ बुरा न हो जाए। उसने डर के मारे आत्महत्या करने की कोशिश की। साथ ही उसने सभी बच्चों और युवाओं अपील की है कि यह सब फर्जी है। इन गेम्स और इन धमकियों पर विश्वास न करें। 

पुलिस ने बचाई लड़की की जान
पुलिस के अनुसार, लड़की ने सोमवार की रात को अपनी बांह पर व्हेल मछली की आकृति उकेरी और झील में कूदने से पहले अपना मोबाइल फोन फेंक दिया था। बुधवार को इस लड़की ने अपने घर पर कुछ गोलियां खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत खतरे से बाहर बताई है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You