गुजरात शपथ ग्रहण: वो हर बात जो आपको जाननी चाहिए

  • गुजरात शपथ ग्रहण: वो हर बात जो आपको जाननी चाहिए
You Are HereNational
Tuesday, December 26, 2017-5:21 PM

नेशनल डेस्क, आशीष पाण्डेय: मंगलवार को विजय रूपानी सहित उनके मंत्रियों ने पद व गोपनियता की शपथ ली। वर्तमान कुल 20 विधायकों को मंत्रिमं​डल में जगह मिली है। बड़ी बात यह है कि इस मंत्री मंडल में कास्ट फैक्टर को सबसे अधिक तवज्जो दिया गया है। पाटीदार, ओबीसी, राजपूत, दलित आदिवासी और सर्वण समुदाय के चेहरों से नया मंत्रिमंडल सजा हुआ है।

पटेल-पाटीदार कम्युनिटी से 8 मंत्री
रूपाणी की नई टीम में पटेल-पाटीदार कम्युनिटी से चुनकर आए 8 विधायकों को मंत्री बनाया गया है। ये आठ नाम हैं- नितिन पटेल, आरसी फलदू, सौरभ पटेल, कौशिक पटेल, जयेश रादड़िया, परबतभाई पटेल, ईश्वर सिंह पटेल और किशोर कनानी। बता दें कि गुजरात में पटेल-पाटीदार वोटर 20% हैं। फलदू लेउवा पटेल और सौरभ कड़वा पटेल कम्युनिटी से आते हैं। वहीं, पाटीदार नेता रादड़िया जेतपुर और दलित नेता ईश्वरभाई परमार बारडोली से चुनकर आए हैं। ईश्वर सिंह पटेल अंकलेश्वर और कनानी सूरत के वराछा से चुनाव जीते हैं।

ओबीसी से 5 मंत्री
ओबीसी कम्युनिटी से चुनकर आए पांच विधायकों को भी मंत्रिमंडल में जगह मिली है। इनके नाम हैं- दिलीप ठाकोर, बचुभाई खाबड़, जयद्रथ सिंह परमार, वासनभाई अहीर और पुरुषोत्तम भाई सोलंकी।

राजपूत कम्युनिटी से 2 मंत्री
भूपेंद्र सिंह चूडास्मा और प्रदीप जाडेजा राजपूत कम्युनिटी से आते हैं। इन्हें भी मंत्री बनाया गया है।

दलित-आदिवासी कम्युनिटी से 3 मिनिस्टर
- आदिवासी कम्युनिटी से आने वाले गणपत भाई वासवा और रमणलाल पाटकर को रूपाणी की टीम में जगह दी गई है। वहीं, दलित कम्युनिटी से मंत्री बनने वाले इकलौते नेता हैं ईश्वर भाई परमार। 

सवर्ण कम्युनिटी से इकलौती महिला मंत्री
- विभावरी दवे को भी रूपाणी की टीम में जगह दी गई। रूपाणी खुद जैन कम्युनिटी से आते हैं। रूपाणी की बाकी टीम में माइनॉरिटी कम्युनिटी से कोई मंत्री नहीं है।

इस बार हुए शपथ ग्रहण में कई बातें हुई अलग

पहले मोदी का रोड शो
शपथ ग्रहण समारोह से पहले मोदी ने अहमदाबाद एयरपोर्ट से अपने काफिले में ही रोड शो किया। वे लोगों की तरफ हाथ दिखाते हुए समारोह स्थल तक पहुंचे। गुजरात में चुनावी जीत के बाद मोदी का यह पहला रोड शो था।
PunjabKesari
चार बार की टूटी परंपरा
राज्य में चार बार मुख्यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी विजय मुहूर्त यानी दोपहर 12 बजकर 39 मिनट पर शपथ लेते रहे हैं। लेकिन विजय रूपाणी का शपथ ग्रहण 11 बजकर 20 मिनट पर शुरू हुआ था। 11 बजकर 26 मिनट पर रूपाणी ने शपथ ली।

लालकृष्ण आडवाणी-नीतीश कुमार की मौजूदगी
इस शपथ ग्रहण में बीजेपी के मार्गदर्शक मंडल में शामिल लालकृष्ण आडवाणी भी नजर आए। साथ ही, नीतीश कुमार भी मौजूद थे। वे 15 साल बाद गुजरात पहुंचे। बता दें कि 2013 में मोदी से मतभेद के चलते ही नीतीश कुमार एनडीए से अलग हुए थे। लेकिन इसी साल वे दोबारा एनडीए में लौट आए। आडवाणी-नीतीश की मौजूदगी इसलिए भी खास रही, क्योंकि बताया जाता है कि मोदी ने रूपाणी के शपथ ग्रहण के बाद इन दोनों नेताओं से कुछ मिनटों के लिए अलग से बातचीत की। 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में एनडीए को अभी से एकत्र करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। 

बीजेपी शासित 18 राज्यों के सीएम आए
ऐसा पहली बार हुआ जब किसी सीएम के शपथ ग्रहण में 18 राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद थे। ये सभी सीएम बीजेपी-एनडीए शासित राज्यों से थे।

केशुभाई-वाघेला रहे मौजूद
समारोह में केशुभाई पटेल और शंकरसिंह वाघेला भी मौजूद थे। लेकिन कांग्रेस और शिवसेना से कोई बड़ा नेता मौजूद नहीं था।


गुजरात में बीजेपी सरकार के शपथग्रहण कार्यक्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मौजूद रहे। विजय रूपाणी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली तो वहीं उपमुख्यमंत्री पद की शपथ नितिन पटेल ने ली। इनके अलावा 18 अन्य मंत्रियों ने भी शपथ ली. चलिए आपको बताते हैं इन्हीं के बारे में-
PunjabKesari
भुपेंद्र सिंह चुडासमा

- भुपेंद्र सिंह चुडासमा उत्तर गुजरात के अहमदाबाद जिले के ढोलका से विधायक हैं
- भुपेंद्रसिंह 1990 में पहली बार विधायक चुने गए थे
- क्षत्रिय समाज से ताल्लुक रखने वाले भूपेन्द्र पांचवी बार विधायक बने हैं
- भुपेंद्र रुपाणी सरकार में शिक्षामंत्री सहित सहित महत्वपूर्ण विभागों के मंत्री रहे हैं
- 67 साल के भुपेंद्रसिंह के पास बीए, बीएड और एलएलबी की डिग्री है
- उनकी कुल संपत्ति 8 करोड़ रुपए के आसपास है. उनके उपर कोई आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं है
PunjabKesari
आर सी फलदू
- 2017 में जामनगर दक्षिण से बीजेपी के विधायक चुने गए
- चौथी बार विधायक बने आर सी फलदू लेऊवा पाटीदार हैं और सौराष्ट्र से आते हैं
- 1998, 2002, 2007 और 2017 में बीजेपी के विधायक चुने गए
- 2012 में विधानसभा का चुनाव हार गए थे
- लगातार 2 बार 2010 से 2016 तक गुजरात बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रहे
- गुजरात विधानसभा में बीजेपी के चीफ व्हिप (मुख्य सचेतक) रह चुके हैं
PunjabKesari
कौशिक पटेल
- कौशिक पटेल उत्तर गुजरात के अहमदाबाद जिले के नारणपुरा से विधायक हैं
- 62 साल के कौशिक पटेल के खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है
- 10 वीं पास कौशिक पटेल की सम्पत्ति 5 करोड़ से ज्यादा है
- नारणपुरा सीट से ही बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह चुनाव लड़ते थे
- कौशिक पटेल पाटीदार हैं और अमित शाह के करीबी हैं
- कौशिक पटेल 66 हजार से ज्यादा वोटों से चुनाव जीतकर विधायक बने हैं
PunjabKesari
सौरभ पटेल
- सौरभ पटेल सौराष्ट्र रीजन के बोटाड जिले से विधायक चुने गए
- सौरभ पटेल कड़वा पाटीदार हैं और 1998 में पहली बार विधायक बने
- 2017 का चुनाव जीतकर सौरभ पटेल पांचवी बार विधायक बने
- सौरभ पटेल 2017 का चुनाव मात्र 906 वोटों से जीत कर विधायक बने
- सौरभ एमबीए हैं, 100 करोड़ से ज्यादा की सम्पत्ति है
- सौरभ के खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है
- 59 साल के सौरभ आनंदी बेन सरकार के वक्त मंत्री थे, लेकिन 2016 में उन्हें हटा दिया गया था

PunjabKesari
गणपत वसावा
- गणपत वसावा दक्षिण गुजरात के सूरत जिले के मंगरोल सीट से विधायक हैं
- 46 साल के वसावा गुजरात सरकार में वन एवं पर्यावरण, आदिवासी विकास रहे हैं
- 2002 में पहली बार विधायक चुने, लगातार चौथी बार विधायक बने
- आदिवासी समाज के वसावा के खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है
- गणपतभाई वासवा गुजरात विधानसभा के स्पीकर भी रह चुके हैं
- एमए तक शिक्षित वसावा की कुल सम्पत्ति 3 करोड़ से ज्यादा है

PunjabKesari
जयेश रदाड़िया
- जयेश राजकोट जिले के जेतपुर से तीसरी बार विधायक चुने गए हैं
- जयेश सूबे के बड़े पाटीदार नेता और पोरबंदर के सांसद विट्ठल रादड़िया के बेटे हैं
- जयेश पिछली विजय रूपाणी सरकार में कैबिनेट मंत्री थे
- 35 साल के जयेश के खिलाफ 2 आपराधिक मामले दर्ज हैं
- जयेश सिविल विभाग में बीई किया है, जयेश की कुल सम्पत्ति 28 करोड़ से ज्यादा है
- जयेश सौराष्ट्र से आते हैं और पाटीदार हैं

PunjabKesari
दिलीप ठाकोर
- 2017 में पाटन जिले के चणास्मा से विधायक चुने गए हैं
- दिलीप पिछली सरकार में भी कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं
- उत्तर गुजरात से आने वाले दिलीप ओबीसी समाज से हैं
- 1990 में पहली बार विधायक बने, 5 वीं बार विधायक बने
- दिलीप ठाकोर 10 पास हैं और इनके पास 6 करोड़ की संपत्ति है
- 58 साल के दिलीप के खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नही है

PunjabKesari
ईश्वरभाई परमार
- ईश्वर परमार सूरत जिले के बारडोली से बीजेपी के विधायक हैं
- ईश्वर परमार दक्षिण गुजरात से आते हैं और दलित समुदाय से हैं
- ईश्वर परमार 2012 और 2017 में लगातार दो बार विधायक बने
- 46 साल के ईश्वर परमार के खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है
- 10वीं पास परमार की कुल सम्पत्ति 1 करोड़ से ज्यादा है

राज्यमंत्री
PunjabKesari
प्रदीप सिंह जडेजा

- प्रदीप अहमदाबाद जिले के वटवा से विधायक हैं
- उत्तर गुजरात से आने वाले जडेजा क्षत्रिय समाज से आते हैं
- पिछली सरकार में प्रदीप राज्यमंत्री रह चुके हैं
- 2002 में पहली बार विधायक चुने गए, लगातार चौथी बार विधायक बने
- 55 साल के प्रदीप के खिलाफ 1 आपराधिक मामला दर्ज हैं
- बीएससी तक शिक्षित जडेजा की सम्पत्ति 4 करोड़ से ज्यादा है

PunjabKesari
परबत भाई पटेल
- परबत भाई पटेल बनासकांठा जिले के थराड से विधायक हैं
- 1985 में पहली बार विधायक बनें, 5 वीं बार विधायक बने हैं
- उत्तर गुजरात से आते हैं और पाटीदार समाज से हैं
- 69 साल के परबतभाई एलएलबी हैं और पिछली सरकार में मंत्री रहे हैं
- कोई आपराधिक मामला दर्ज नही है, लगभग 3 करोड़ की सम्पत्ति है

PunjabKesari
जयद्रथ परमार
- पंचमहाल जिले के हालोल से बीजेपी के विधायक हैं
- मध्य गुजरात से आते हैं और ओबीसी समाज से हैं
- 53 साल के परमार एलएलबी हैं, 4 करोड़ से ज्यादा की सम्पत्ति है
- लगातार चौथी बार विधायक चुने गए हैं
- इन पर कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है

PunjabKesari
रमण पाटकर
- वलसाड जिले के उमरगांव से बीजेपी के विधायक हैं
- दक्षिण गुजरात से आते हैं और आदिवासी समाज से हैं
- 1995 में पहली बार विधायक बनें, 2017 में पांचवी बार विधायक बने
- 65 साल के हैं, 8 वीं तक पढ़ाई की है
- इन पर कोई आपराधिक मामला दर्ज नही है, कुल 75 लाख की सम्पत्ति है

PunjabKesari
पुरूषोत्तम सोलंकी
- भावनगर जिले के भावनगर ग्रामीण से विधायक हैं
- सौराष्ट्र से आते हैं और कोली समाज से हैं
- लगातार पांचवी बार विधायक चुने गए हैं
- 56 साल के सोलंकी पर 6 आपराधिक मामले दर्ज हैं
- 45 करोड़ से ज्यादा की सम्पत्ति है, पूर्व में भी मंत्री रह चुके हैं

PunjabKesari
ईश्वरभाई पटेल
- ईश्वरभाई पटेल भरूच जिले के अंकलेश्वर से विधायक हैं
- 2002 से लगातार चौथी बार विधायक चुने गए
- 52 साल के ईश्वरभाई पटेल दक्षिण गुजरात से आते हैं
- पिछली सरकार में भी राज्यमंत्री रह चुके हैं
- एलएलबी हैं, कोई आपराधिक मामले दर्ज नहीं है, 2 करोड़ से ज्यादा की सम्पत्ति है

PunjabKesari
वासनभाई अहीर
- कच्छ जिले के अंजार से बीजेपी के विधायक हैं
- 1995 में पहली बार विधायक बनें, 2017 में पांचवीं बार विधायक बने
- कच्छ संभाग से आते हैं और अहीर समाज से हैं
- पिछली सरकार में भी राज्यमंत्री रह चुके हैं
- सातवीं पास है, कोई आपराधिक मामले दर्ज नही है, 3 करोड़ से ज्यादा की सम्पत्ति है

PunjabKesari
किशोर कनानी
- सूरत जिले के वराछा रोड़ से विधायक हैं
- लगातार दूसरी बार विधायक चुने गए हैं
- दक्षिण गुजरात से आते हैं और पाटीदार समाज से हैं
- 54 साल के हैं, कोई आपराधिक मामले दर्ज नहीं है
- नौंवी पास हैं और 2 करोड़ से ज्यादा की सम्पत्ति है

PunjabKesari
बचुभाई खाबड़
- दाहोद जिले के देवगढ़बारिया से बीजेपी के विधायक हैं
- मध्य गुजरात से आते हैं और ओबीसी समाज से हैं
- 2002 में पहली बार विधायक बने, 2017 में तीसरी बार विधायक बने
- पिछली सरकार में भी राज्यमंत्री रह चुके हैं
- 62 साल के हैं, कोई आपराधिक मामले दर्ज नहीं है
- 11वीं पास हैं और 35 लाख से ज्यादा की सम्पत्ति है

PunjabKesari
विभावरी दवे
- भावनगर जिले की भावनगर पूर्व सीट से विधायक हैं
- सौराष्ट्र से आती हैं और ब्राहम्ण समाज से हैं
- 2007 में पहली बार विधायक बनीं, लगातार तीसरी बार विधायक हैं
- 58 साल की हैं, कोई आपराधिक मामले दर्ज नहीं है
- एमकॉम किया हुआ हैं और 3 करोड़ से ज्यादा की सम्पत्ति है

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You