भारतीय डाकघर का सराहनीय कदम, अस्‍पतालों में जाकर बदल रहा मरीजों के नोट

  • भारतीय डाकघर का सराहनीय कदम, अस्‍पतालों में जाकर बदल रहा मरीजों के नोट
You Are HereTop News
Monday, November 14, 2016-3:35 PM

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद से जहां आमजन को काफी तकलीफ का सामना करना पड़ रहा है। वहीं पीएम मोदी ने लोगों की परेशानी को कुछ हद तक कम करने की कोशिश की है। बैंकों और एटीएम को कैश लिमिट बढ़ाने को कहा है। इसके अलावा जिन गांवों में एटीएम सुविधा नहीं है वहां भी हरसंभव मदद पहुंचाई जा रही है। यहां तक कि नोट पहुंचाने के लिए वायुसेना की भी मदद ली जा रही है। इसी क्रम में भारतीय डाक भी मदद के लिए आगे आया है। अस्‍पतालों में बड़े नोट न लेने की वजह कई लोगों को उपचार में दिक्‍कत आ रही है, ऐसी कई शिकायतें सामने आई हैं। ऐसे में सरकार ने इसे संज्ञान में लेते हुए ऐक्‍शन लिया है।
 



अब डाकघर के कर्मचारी अस्‍पताल जाकर खुद ही नोट एक्‍सचेंज कर रहे हैं। भारत के केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने अपने ट्विटर हैंडल से एक तस्‍वीर पोस्‍ट की जिसके साथ उन्होंने लिखा कि 'भारतीय डाकघर के कर्मचारी अस्पतालों में करेंसी एक्सचेंज की सुविधाएं दे रहे हैं।' वहीं कई लोगों ने डाक विभाग के इस सराहनीय कदम की काफी प्रशंसा की है। लोगों का कहना कि उनके पास पहले चाय तक पीने के पैसे नहीं थे लेकिन पोस्‍ट ऑफिस के लोग ग्राऊंड लेवल जीरो पर काम कर रहे हैं। उनकी मदद से काफी राहत मिली है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You