मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा- पूर्व दलों देश की संस्कृति को दिया दूषित

You Are HereNational
Saturday, October 07, 2017-12:11 PM

उज्जैन: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समाज की दशा और दिशा तय करने में महिलाओं की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया है। इस बारे में उन्होंने आगे कहा कि समाज में बहनों के साथ पक्षपात न हो, इस बात की चिंता भारतीय जनता पार्टी ने की है। मुख्यमंत्री ने कल उज्जैन में महिला मोर्चा के तीन दिवसीय प्रदेश प्रशिक्षण वर्ग के समापन सत्र के दौरान कहा कि पार्टी ने नगरीय निकाय में महिलाओं को आरक्षण देकर नारी सशक्तिकरण की मिसाल पेश की है। महिला मोर्चा महिला सशक्तिकरण की दिशा में काम करे और समाज में सकारात्मक परिवर्तन का ध्वजवाहक बने। सत्र में प्रदेश मंत्री एवं मोर्चा की प्रदेश प्रभारी कृष्णा गौर, प्रदेश अध्यक्ष लता ऐलकर एवं महापौर मीना जोनवाल मौजूद थीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद देश के विकास के लिए जिन दलों को चुना गया था उन्हें देश के विकास की दिशा तय करनी थी। तब उन्होंने पश्चिमी सभ्यता का रास्ता अपनाकर इस देश की महान संस्कृति में पश्चिमी सभ्यता का घालमेल कर इसे दूषित करने का काम किया। ऐसे समय में एक राष्ट्रवादी संगठन की नींव रखी गई। जो देश की संस्कृति और सभ्यता के मूल को पवित्र रखते हुए देश को विकास की ओर ले जा सके। इन उद्देश्यों के साथ राष्ट्र को परमवैभव को पहुंचाने के लिए जनसंघ की स्थापना की गयी। चौहान ने कहा कि महिला मोर्चा का कार्य साधारण नहीं है, मोर्चा समाज में परिवर्तन करने निकाला है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You